Connect with us

Economics

इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग दोगुनी होकर 3 करोड़ तक पहुंची, रिफंड भी 81 फीसद बढ़ा

Published

on

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। इस बार भरा जाने वाला आईटीआर (इनकम टैक्स रिटर्न) दोगुना होकर 3 करोड़ तक पहुंच गया है। यह जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले से सामने आई है। बीते सप्ताह तक इकट्ठा किए गए डेटा के मुताबिक रिफंड के मामले भी 81 फीसद तक बढ़कर 65 लाख तक पहुंच गई है।

रिफंड की राशि जो कि जारी की गई है वो 77,700 करोड़ रुपये रही है जो कि पिछले वर्ष के आंकड़े से 35 फीसद ज्यादा है। आयकर विभाग ने बीते साल 1.06 लाख करोड़ टैक्सपेयर जोड़े थे और इसका उद्देश्य 1.25 करोड़ नए करदाता जोड़ने का है।

31 जुलाई से पहले इस साल फाइलिंग संख्या में तेज वृद्धि की वजह शायद यह है कि इस साल से भारी जुर्माना लगाया जा सकता है। अब वित्त वर्ष 2017-18 के लिए रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 अगस्त 2018 हो चुकी है।

उदाहरण के लिए: अगर आपकी आय 5 लाख से ज्यादा की है और आपने 1 सितंबर 2018 से 31 दिसंबर 2018 के बीच रिटर्न फाइल की है तो आपको 5,000 रुपये की पेनाल्टी देनी होगी। वहीं अगर आपने 1 जनवरी से 31 मार्च 2019 के बीच रिटर्न फाइल किया है तो आपको 10,000 रुपये का जुर्माना देना होगा। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर आप 31 मार्च 2019 तक भी रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं तो आपको वित्त वर्ष 2017-18 के रिटर्न फाइल करने का कोई भी मौका नहीं मिलेगा। यानी इस बार से आपको अपना आईटीआर तय आंकलन वर्ष में ही भरना होगा।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!