Connect with us

Politics

उपचुनाव में ‘राम’ नहीं ‘शबरी’ के सहारे उतरेगी BJP, आदिवासी जनाधार को बचाने की तैयारी …

Published

on

भोपाल। चित्रकूट में राम भरोसे रहने वाली भाजपा मंदाकिनी में डूबने के बाद अब कोलारस एवं मुंगावली विधानसभा उपचुनाव में शबरी का भी साथ लेगी। यही कारण है कि कोलारस उपचुनाव में भाजपा ने राम की अपेक्षा शबरी कार्ड खेल दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कोलारस के सेसई में 8 करोड़ की लागत से सहरिया संस्कृति बचाने के लिए शबरी मंदिर बनाने के लिए की गई घोषणा भाजपा की इसी रणनीति का हिस्सा है।

प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा की जेब से तेजी से खिसक रहे आदिवासी वोट बैंक को लेकर संघ और भाजपा चिंतित है। यही कारण है कि संघ की ओर से श्योपुर जिले में बड़ आदिवासी संगम करने की तैयारी की है। अभी तक राम के नाम पर वोट मांगने वाली भाजपा पिछला चुनाव हारने के बाद कोलारस एवं मुंगावली उपचुनाव में आदिवासियों को पार्टी से जोड़ने के लिए शबरी कार्ड खेला है। हालांकि भाजपा मैहर, शहडोल, उमरिया, बांधवगढ़, घोड़ाडोंगरी में भी सबरी के नाम पर वोट मांग चुकी है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!