Connect with us

Uncategorized

*उलटा चोर कोतवाल को डांटते की कहानी थाना अखण्डनगर-सुलतानपुर की पुलिस करतूत कर रही है*

Published

on

 

कल दिन में लगभग 2:00बजे ग्राम खानपुर पिलाई के राम पदारथ मौर्य के तरबूज के फसल की गांव के SC – St चार लड़कों ने चोरी किये और मौर्य ने 100 नम्बर डायल कर दिया सूचना, मौके पर पुलिस पहुंच कर दोनों पक्षों को लेकर थाने ले गयी और मौके के ग्राम प्रधान पहुँच कर समझौता कर दिये और और जाल साजी कर पुन: पदारथ मौर्य को रात11:00 ،बजे पुलिस ने उठा कर थाने बैठा लिये है चोरी करने वाले लोग बाहर घुम रहे है स्थानीय थाने की थानाध्यक्ष अखण्डनगर प्रभात वर्मा ने बताया कि समझौता करने बाद मार पीटे है एसी- एसटीे लड़को को जो की पूरी तरह फर्जी मन गढन्त बात है

*जब सइयां भये कोतवाल तो डर काहें*

सूत्रों की मानें की ग्राम प्रधानों की सुनी जाती थाने – चौकी आम लोगों से करते दलाली इसी प्रकार ग्राम खानपुर पिलाई मे ग्राम प्रधान दलसिंगार अपने बिरादरी से करवाता रहता ऐ दिन वारदात और अन्य बिरादरी के लोगों पर दबाव निरन्तर बने रहने के लिये फर्जी धमकी व मुकदमें फांसने का करता रहता है प्रयास और कई पर करवा फर्जी मुकदमा अपने बिरादरी से पंजीकृत ,गांव में गरीब लोगो का करता है शोषण

*ग्राम प्रधान एसी – एसटी का पूरा कर रहा दुर्पयोग पुलिस भी प्रधान के इसारे पर कर रही कानूनी कार्य*

सूत्रों के हवाले से ग्राम प्रधान मन – मने ढ़ग जिसको अपने राजनीति के खिलाफ (वोट बैंक) की राजनीति करते जान जाता है उन लोगों को किसी न किसी प्रकरण में पुलिस या जेल के हवाले करता रहा है और करने का प्रयास जारी है और निर्दोष लोगों पर खूब प्रधान दलसिंगार की दबंगई चल रही है और गांव में विकास कार्य हुआ कि नहीं लेकिन अपने बिरादरी का अन्य बिरादरी पर तन्डव करने में हौसला किये है बुलन्द कई युवाओं का जीवन इस प्रधान ने किया रोजी – रोटी से बेघर और जाने कितने निर्दोष अभी चढ़ेंगे इस प्रधान के राजनीति के हथकन्डे पर |

कादीपुर – सुलतानपुर के वर्तमान बिधायक राजेश गौतम ग्राम प्रधान दलसिंगार के दूर व कथित रिशतेदार के साथ में चल रही बिरादरीबाद बैठती है खूब इस समय में यही चल रहा हर सरकारी दफ्तर में *न लेख न बही हम जो कहे वही सही* जब की यह प्रधान शुध्द रूप से बसपायी है और वर्तमान कादीपुर बिधायक बिरादरी व रिश्तेदारी जोडे है यही नजरिया रहा तो भाजपा को इस सीट से भी आगामी चुनावों में हार का सामना करना पडेगा बिधायक विकास कार्य में कम रूचि रख रहे है बिरादरी बाद में ज्यादा कोई प्रकरण बिरादरी से किसी अन्य बिरादरी का होता है बिरादरी बाद पहले है रिश्तेदार भी बन जा रहे है लेकिन चुनाव पूर्व में कोई ऐसे शुभ चिन्तक साथ नही दिखे थे

*यही रवैया रहा तो किसी दिन हो सकती है किसी के जान की बडी़ घटना*

जबरन एसी- एसटी कानून का करवा जाता रहा दुर्पयोग अन्य बिरादरी के लोगों मान – सम्मान के साथ हो रहा है खिलवाड़ इससे बार लोगों ग्राम प्रधान के राजनैतिक षडयंत्र के शिकार हो रहे पढे -लिखे लोग और बहुसंख्यक होने के नाते अन्य विरादरी घर पर चढ़ कर गोलबन्द होकर लोंगों के घेर लेते ऐसी दशा कई बार पूर्व में हुई तथा खेती – फसल का नुकसान , टीयूबल ,टुलु मोटर आदि की चोरी वगैरह की वारदातें प्रधान अपने संरक्षण में करवाता लोगों जीवन बहुत दूभर अवस्था से गुजर रही है |

 

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!