Connect with us

Uncategorized

एआर टी ओ की करतूत**

Published

on

**एआर टी ओ की करतूत**
अम्बेडकर नगर से प्रतिदिन कई दर्जन बसें राजधानी लखनऊ को जाती हैं जिससे परिवहन विभाग को काफी नुकसान हो रहा है लेकिन परिवहन विभाग कुम्भकर्णी नींद में सो रहा है।
*मात्र चंद रुपयों के कारण अधिकारियों की मिलीभगत से संचालित हो रही हैं बसें*
ए, आर, टी, ओ,औऱ पुलिस विभाग की मिलीभगत से चलती हैं ये बसे।इनको तनिक भी डर लगता ही नहीं क्यों कि ये इसकी कीमत अदा करने के बाद ही रवाना होते हैं।तो डरे किसको?
*मात्र ए आर टी ओ औऱ पुलिस विभाग का नियम और कानून बाइक वालों औऱ छोटी गाड़ियों पर चलता है*
क्योंकि इनसे कोई सुविधा सुल्क नहीं मिलता जो सुविधा सुल्क दे देते हैं उनके खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं होती ।
*ये है अम्बेडकर नगर का कानून*
भरस्टाचार थमने का नाम नहीं ले रहा है।आएदिन हो रही छिनैती खोल रही है भरस्टाचार की पोल । पुलिस विभाग नाकाम हो रही है।
केवल फर्जी तरीके से खुलासे करके मामले को खत्म किया जा रहा है।जितने खुलासे किए गए सब विबादित ।

 

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!