Connect with us

Uncategorized

ऐसे हैं ये 4 कलाकार : 50 फिल्‍में कर चुकी यह एक्‍ट्रेस है हकलाती, तो इस एक्‍टर की एक आंख है नकली

Published

on

रानी मुखर्जी
रानी मुखर्जी हिंदी सिनेमा की नामचीन अभिनेत्रियों में से एक रही हैं। जल्द ही वह फ़िल्म हिचकी में नज़र आने जा रही हैं। इस फ़िल्म में रानी का किरदार स्टैमरिंग (हकलाना) करता दिखायी देगा। दिलचस्प पहलू ये है कि रानी का ये किरदार उनकी रियल लाइफ़ से जुड़ा है। रानी ने एक बातचीत में ये स्वीकार किया है कि वह ख़ुद अपनी ज़िंदगी में स्टैमरिंग को लेकर कांशस थीं। रानी कहती हैं कि मैंने अपने हकलाने वाली समस्या पर अब काबू पा लिया है। यही वजह है कि किसी को भी इस बारे में जानकारी नहीं है कि मुझे पिछले 22 सालों से यह परेशानी रही है।

राणा दुग्‍गुबाती
राणा ने बताया था कि वो बचपन से अपनी दाहिनी आंख से देख नहीं सकते थे। सालों तक उनके लिए जिंदगी आसान नहीं थी। फिर फेमस डॉक्‍टर एलवी प्रसाद ने उनकी आंख का ऑपरेशन किया। उनकी दाहिनी आंख एक बीमार बच्‍चे से दान में मिली थी। आंख लगाने के बाद भी देख नहीं सकते, लेकिन कोई यह जान नहीं पाता कि राणा को एक आंख से ही दिखता है।

रवींद्र जैन
भारतीय सिनेमा के मशहूर गीतकार-संगीतकार रविंद्र जैन ने अपनी काबिलियत के दम पर बॉलीवुड को कई बेहतरीन गानें दिए। रविंद्र जन्‍म से ही अंधे थे लेकिन उन्‍होंने अपनी लगन और मेहनत में कोई कसर नहीं छोड़ी। और बाद में एक बेहतरीन संगीतकार कहलाए। रविंद्र जैन का 9 अक्‍टूबर को देहांत हो गया था।

सुधा चंद्रन
सुधा चंद्रन इंडियन एक्‍ट्रेस और क्‍लॉसिकल डांसर हैं। सुधा का जन्‍म केरल में हुआ था। वह जब 16 साल की थीं, तब एक दुर्घटना का शिकार हो गईं थी। डॉक्‍टर्स ने पैर का ऑपरेशन किया लेकिन घाव पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाए। जो बाद में इंफेक्‍शन का कारण बना और सुधा को अपना एक पैर खोना पड़ा। सुधा ने इसे अपनी कमजोरी नहीं माना और नकली पैर की बदौलत एक बेहतरीन डांसर बनकर उभरीं।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!