Connect with us

हरियाणा

कालका क्षेत्र की सुषमा रानी बनी महिलाओं के लिए

Published

on

हरियाणा
कालका हल्के के गाँव खेड़ी की निवासी सुषमा रानी पत्नी मुकेश कुमार पिछले 10 वर्षो से गाँव गाँव जाकर महिलाओं को स्वरोजगार हेतु प्रेरित कर रही है व अपने स्वयं के खर्चे पर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए टेडी बियर, जूट से निर्मत पर्स ,हैंड बैग, दुप्पटे पर कढाई व फुलकारी आदि करना सीखा रही है।
मैंगो मेले पिंजोर में हैंड क्राफ्ट व हैंड मेड ज्वेलरी की स्टाल संचालिका श्रीमती सुषमा रानी ने बताया कि वह पिछले काफी वर्षो से देश के विभिन्न राज्यो में प्रदर्शनी व मेलों में अपने हाथ से बनाये समान की प्रदर्शनी लगाती है , व राधे राधे स्वयं सहायता ग्रुप की संचालिका भी है जिसमे वह गाँव गाँव जा कर अनपढ़ व बेरोजगार महिलाओं को टेडी बियर , पर्स, कढाई सिलाई इत्यादि सिखाकर आत्म निर्भर बना रही है । सुषमा रानी ने बताया कि वह एक गरीब परिवार से है और मेलो व प्रदर्शनी इत्यादि में अपना हाथ से बना समान लगा कर आजीविका चलाती है। अब ये आजीविका के साथ साथ उसका शौक भी बन गया है कि खुद की तरह वह अपने क्षेत्र की महिलाओं को भी आत्म निर्भर बनाये। सुषमा ने बताया कि उनके ग्रुप के द्वारा बनाया गया समान अच्छे अच्छे घरों के लोग बड़ी खुशी से ले कर जाते हैं जिसके बदले उनके ग्रुप की सभी महिलाओं को अच्छी आमदनी भी हो जाती है।
आज उनके द्वारा काम सीखी सेकड़ो महिलाएं आत्म निर्भर हैं ।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!