Connect with us

Deoria

छात्रों व शिक्षकों की समस्याओं का सौंपेंगे ज्ञापन

Published

on

 

प्राईवेट विद्यालयों के प्रबंधको ने बैठक कर लिया निर्णय

बैतालपुर (देवरिया)। बैतालपुर ब्लाक सभागार में उत्तर प्रदेश वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ की बैठक मंगलवार को हुई। जिसमे कोविड19 महामारी की संकट से जूझ रहे विद्यालयों की समस्याओं पर विचार-विमर्श कर सम्बंधीत समस्या का ज्ञापन राज्यपाल व मुख्यमंत्री को सौंपने का निर्णय लिया गया।
बैठक को सम्बोधित करते हुए संघ के ब्लाक संयोजक ओंकार मणि त्रिपाठी ने कहा कि कोविड19 से पूरी दुनिया तबाह है। लोगों की आने वाली सभी समस्याओं में सबसे बड़ी समस्या बच्चों के भविष्य की है। जो बिना शिक्षा के अधूरा है। जिसके माध्यम से बच्चों के भविष्य को संवारा जाता है, आज उसकी माली हालत सबसे दयनीय है। उन्होने कहा कि सरकार सभी वर्गो के लिए कुछ न कुछ कर रही है, लेकिन शिक्षक उससे अछूता है। जिसे कोई लाभ सरकार की ओर से नही मिल रहा है। विद्यालय प्रशासन भी लाचार है। संघ के अध्यक्ष रामाश्रय यादव ने कहा कि हाईकोर्ट और सरकार ने तो फीस वसूली के लिए यह आराम से आदेश कर दिया कि स्कूलों में फीस देना होगा, पर यह सिर्फ शहर के विद्यालयों में ही सम्भव है। छोटे कस्बों व देहात के विद्यालयों में कभी नही हो पाएगा। विद्यालय फीस लेने की बात करता है तो लफड़े बढ़ सकते हैं। इस दशा में सरकार को चाहिए कि ऐसे विद्यालय परिवार से जुड़े सभी को आर्थिक मदद मुहैया कराए। उपाध्यक्ष राजेन्द्र पटेल ने कहा कि हम सभी को एकजूट होकर इन सभी मुद्दों का एक ज्ञापन जल्द ही देना होगा। किराए की भवन में संचालित होने वालों के प्रति भी सरकार अंशदान की घोषणा करे। इस अवसर पर राधेश्याम मिश्र, देवेश मणि, विनय मणि, अरविन्द मणि, उमेश यादव, रजनीश पटेल, सतीश यादव, करन कुमार मिश्र आदि उपस्थित रहे।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!