Connect with us

Jaunpur

जौनपुर : खाद्य निरीक्षक के आने से पहले ही धड़ाधड़ बंद हो गई दुकानें

Published

on

निरीक्षक ने दिए दुकानदारों को उचित निर्देश

हजारों रुपए महीना देने के बाद भी दुकानदारों का होता है सेंपलिंग

चंदवक/जौनपुर :- क्षेत्र के बजरंग नगर, खुज्जी, चंदवक, पटरही, सहित अन्य छोटे बाज़ार तब सन्नाटे में तब्दील हो गए जब किराना व मिठाई के दुकानदारों को पता चला कि खाद्य अधिकारी व सेंपलिंग बैच के साथ बाज़ार के चक्रमण में निकले है।और सभी बाजारों में सन्नाटे देख खाद्य निरीक्षक अधिकारी डॉ० तूलिका शर्मा ने बजरंग नगर में एक प्रतिष्ठित किराना दुकानदार से संपर्क कर अन्य सभी मिठाई। व किराना संबंधित लगभग दर्जनों की संख्या में दुकानदारों को एकत्र कर उचित बारह निर्देशों का सख्ती से पालन करने का सुझाव दिए।जिसमें वासी दूषित पदार्थ न बेचे , सफाई का विशेष ध्यान, स्व क्ष पानी, प्रयुक्त बर्तनों की साफ सफाई, किसी रोग से संक्रमित ब्यक्ती कारोबार में सम्मिलित न हो, अखबार का प्रयोग कदापि न हो, खाद्य सामग्री में खाद्य रंगो का ही प्रयोग, ताज़े सब्जियों , फलो का प्रयोग, जूस, फल विक्रेता कपड़े से ढक कर रखें, जूस में रंग, सैकरीन का प्रयोग प्रतिबंधित है, खाद्य समानों में प्रयोग किए गए तेलो पर विशेष ध्यान, चाय विक्रेता पत्ती का प्रयोग एक बार ही करे।और किराना व्यापारी के लिए ब्रांडेड। व पैक समानों को बेचने की सख्त हिदायत दिए।
तो उधर दुकानदारों ने इस बात का आक्रोश देखा गया है। कि चंदवक सहित अन्य बाज़ार के मिठाई। व किराना संबंधित दुकानदारों ने प्राय पांच सौ से एक हजार महीना देते रहे है के बाद भी सेंपलिंग हो जाता तो महीना देने का क्या मतलब है।प्रत्येक बाज़ार में एक मेट होता है जो वसूली कर अधिकारियों तक पैसा पहुंचाता है।
इस अवसर पर बच्चेलाल, लालजी, बेचू, प्रेम, संजय, सुबास, संतोष,राजेश,लकी सिंह,सहित दर्जनों लोग रहे।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!