Connect with us

Jaunpur

#जौनपुर : गोमती का जलस्तर बढ़ने से दो गांव की सैकड़ो एकड़ फसलें डूबी

Published

on

संवाददाता : मानिक चंद्र यादव

बदलापुर/जौनपुर :- गोमती व पीली नदी का जलस्तर बढ़ने से बदलापुर क्षेत्र के कई गांव की सैकड़ों एकड़ फसलें जलमग्न हो गई हैं। वहीं इन नदियों के अगल- बगल गाँव के लोग सम्भावित बाढ़ के खौफ से सहमे हुए हैं । सब कुछ जानने के बाद भी तहसील प्रशासन ने अभी तक सम्भावित बाढ़ से निपटने के लिए कोई इंतजाम नहीं किया है। गोमती नदी के जल स्तर में लगातार वृद्घि जारी है। जिसके कारण पांचवें दिन बढ़ने से अहियापुर व शाहपुरसानी गांव में सैकड़ों एकड़ फसल पानी से डूब चुकी है । शाहपुरसानी निवासी पंकज यादव, समरजीत यादव ,संजय यादव प्रधान ,लालसाहब यादव संदीप यादव और ग्राम अहियापुर निवासी कमल यादव , लालता सिंह., विजय यादव , मनोज सिंह , रायसाहब , आदि किसानों की फसलें डूबी हुई हैं।फसलों के डूबने से किसानों के चेहरे मायूस हो गए हैं। गांव के बुजुर्ग अच्छेलाल यादव व गोरख यादव ने बताया कि वर्ष 2007 में आयी बाढ़ की विभीषका ने हम किसानों को दाने-दाने व रोने के लिए मजबूर कर दिया था । गोमती नदी का जल स्तर ऐसे ही बढ़ता रहा तो चौबीस घंटे के भीतर पानी बस्ती में घुसना प्रारंभ हो जाएगा।ऐसी ही स्थित पीली नदी की भी बनी हुई है ।

(फोटो : जलमग्न हुई फसल)

बदलापुरखुर्द गांव में पीली नदी पर बना रपटा पुल पानी से डूबा हुआ है । पुल डूबने व पानी की धार तेज होने के कारण दर्जन भर से ज्यादा गाँव के लोगों का आवागमन बाधित हो गया है । इस दौरान बदलापुरखुर्द , रारीकला , रारीखुर्द , लेदुका , दुर्गापट्टी , मछलीगाँव , मसनपुर , मोलनापुर , खालिशपुर , छंगापुर , मुरीदपुर , चकमोलनापुर तथा वीरभानपुर आदि गाँव के लोग 10 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय कर बटाऊबीर से बदलापुर होते हुए तहसील मुख्यालय पहुँच रहे हैं । सब कुछ जानने के बावजूद प्रशासन मौन साधे हुए हैं।

 

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!