Connect with us

Jaunpur

जौनपुर : चिकित्सक विहीन पीएचसी पर मरीजों ने जताया आक्रोश

Published

on

तीन दिन में डॉक्टर की तैनाती न होने पर आक्रोशित ग्रामीण राष्ट्रीय राज्यमार्ग जाम कर जताएंगे विरोध

पीएचसी का स्टाप सीएचसी पर भेजने से मरीजों के समक्ष बनी समस्या

नौपेड़वा/जौनपुर :- बक्शा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात चिकित्सक के स्थान्तरण पश्चात नए चिकित्सक की तैनाती न होने से नाराज मरीजो ने शनिवार को जमकर हंगामा व विरोध जताया। मौके पर मौजूद ग्रामीणों व मरीजों ने बेलापार बक्शा के सीएचसी प्रभारी डॉ ए के सिंह पर साजिश के तहत पीएचसी बन्द करने का आरोप लगाया। तीन दिन में चिकित्सक की तैनाती न होने पर राष्ट्रीय राज्य मार्ग जाम करने की चेतावनी दी गई। पीएचसी पर तैनात दर्जनों लोगों को धीरे-धीरे सीएचसी पर भेजे जाने एवं शुक्रवार को वाहनों से डॉक्टर की कुर्सी तक अन्य सामान उठा ले जाने से लोग आक्रोशित हो उठे।
बीते सप्ताह बक्शा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी डॉ एके कनौजिया का स्थानांतरण हो गया। सीएमओ ने बेलापार बक्शा सीएचसी पर तैनात डॉ एके सिंह को प्रभारी बना दिया। इसी के साथ बक्शा अस्पताल का स्टाप धीरे-धीरे सीएचसी पर बुला लिया गया। बक्शा में मात्र फार्मासिस्ट सीएल गौतम एवं वार्ड ब्वाय गुलाब एवं डिलेवरी हेतु एनम रंभा सिंह जेनम वर्षा सिंह एवं रेनू सिंह ही रह गई। बक्शा में प्रतिदिन डेढ़ से दो सौ मरीजों की ओपीडी के साथ आधा दर्जन से अधिक डिलेवरी होती है। दिन एवं रात्रि में अकेले फार्मासिस्ट ही मौजूद रहता है। मरीजो की माने तो डॉक्टर को दिखाना हो या थाने से मारपीट जैसे गंभीर मामलों में मेडिकल हेतु दिन भर घायल अवस्था मे लोग इंतजार करते है। डिलेवरी हेतु बक्शा आने वाली महिलाएं थाना एवं ब्लॉक होने के कारण अपने को सुरक्षित मानती है। मरीजो को भय है कि कही बक्शा पीएचसी बन्द करने की साजिश तो नही हो रही है। इस दौरान प्रधान संघ पूर्व अध्यक्ष भोलेनाथ सिंह, आशीष उपाध्याय, अभिषेक उपाध्याय, नन्हकू तिवारी, रविन्द्र नाथ तिवारी, राकेश सिंह, रामचन्द्र गौतम, मखंचू, सितारा यादव, शांति, उर्मिला, उषा, पूनम, सहित तमाम लोगो ने विरोध जताया।
इस सम्बन्ध में सीएचसी अधीक्षक डॉ ए के सिंह ने बताया कि सोंधी से डॉ रोहितलाल का बक्शा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ट्रांसफर हुआ है। सम्भव है इस सप्ताह ज्वानिंग कर लेंगे।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!