Connect with us

Uttar Pradesh

#जौनपुर : तहसील में अब अमीन जारी करेंगे प्रमाणपत्र 27 अमीनों की आई डी तैयार

Published

on

 

लेखपालों की हड़ताल के कारण तहसील में नहीं जारी हो रहे 10 दिनों से आय,जाति,अधिवास प्रमाण :

13 हजार 797 प्रमाण पत्र पेंडिंग :

आवेदनकर्ता तहसील के काट रहे चक्कर:

जौनपुर/मछलीशहर:-लेखपालों की 10 दिनों से हड़ताल के कारण 13हजार 797 प्रमाण पत्र आय,जाति,अधिवास प्रमाण पत्र लम्बित हो चुके हैं । प्रमाणपत्रों के जारी न होने से परेशान आवेदनकर्ता तहसील के चक्कर काट रहे हैं । वहीं तहसील प्रशासन ने वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर तहसील के 27 अमीनों की आई डी बना दिया है ।अब अमीनों की रिपोर्ट पर प्रमाण पत्र निर्गत किये जायेंगे ।
बताया जाता है कि लेखपालों की कलमबंद हड़ताल 3 जुलाई से जारी है ।प्रमाण पत्रों पर रिपोर्ट लगाने से लेकर,शिकायतों के निस्तारण,भूमि पैमाइस से लेकर सभी सभी कार्य ठप्प हैं । सबसे अधिक दिक्कत आय,जाति,अधिवास प्रमाणपत्रों के जारी न होने के कारण आवेदन कर्ताओं को उठानी पड़ रही है ।विगत दस दिनों में जहां 11740 आय,जाति प्रमाण पत्र लम्बित हैं । वहीं 2057 निवास प्रमाण पत्र भी अभी तक निर्गत नहीं हो पा रहे हैं । जिसमें सहज जनसेवा केंद्र से आवेदित आय,जाति तहसीलदार के फोल्डर में 7217 और लेखपालों के फोल्डर में 4523 लम्बित हैं ।
वहीं जाति प्रमाण पत्र 2312 तहसीलदार के फोल्डर में व 1691लेखपालों के फोल्डर में लम्बित हैं । यही स्थिति अधिवास प्रमाण पत्र की है ।कुल 1027 लम्बित हैं ।वहीं उपजिलाधिकारी के फोल्डर में 2057 निवास प्रमाण पत्र लम्बित हैं । इन दिनों छात्रों को संस्थाओं में प्रवेश के लिये,छात्रवृत्ति के लिये व अन्य कई आवेदन करने हेतु आय,जाति,अधिवास प्रमाण पत्रों की जरूरत पड़ती है । जुलाई अगस्त में इसकी संख्या बढ़ जाती है ।वैसे अमीनों को दायित्व सौंपकर तहसील प्रशासन प्रमाण पत्रों के जारी करने की व्यवस्था अगले सप्ताह से कर तो रहा है लेकिन बैंक ऋण लेने के लिये कागजातों आदि की तैयारी के लिये खसरे व लेखपालों के रिपोर्ट की आवश्यकता होती है और जमानत में भी बिना लेखपालों की रिपोर्ट के वेरीफिकेशन सम्भव नहीं है । ऐसी स्थिति में भुक्तभोगी तहसील के रोज चक्कर काटने के लिये मजबूर हैं और कइयों का भविष्य भी दांव पर लगा है ।तहसील प्रशासन को लेखपालों का विकल्प खोजना पड़ेगा अन्यथा तहसील के सारे कामकाज ठप्प पड़ जाएंगे ।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!