Connect with us

Jaunpur

जौनपुर : निजी और सार्वजनिक भूमि पर कायम अवैध कब्जा हटवाया गया

Published

on

 

हाईकोर्ट के निर्देश पर जिलाधिकारी पहुचे चिताव एवम करौदा गाँव, मौके जाकर हटवाया कब्जा

मछलीशहर/जौनपुर :- चिताव गाँव में नाली एवम निजी भूमि पर रास्ता का निर्माण करने तथा करौदा गाँव में भीटा और तालाब खाते की भूमि पर कायम अवैध कब्जा को हटवाने हेतु हाईकोर्ट से पारित आदेश के बाद जिलाधिकारी स्वयं अपनी राजस्व टीम के साथ मौके पर पहुँचे। पैमाइश करवाकर अवैध कब्जा हटवाया है।
चिताव गाव निवासी वैभव ने उच्चन्यायालय में याचिका दायर कर आरोप लगाया कि पिछली पंचवर्षीय योजना में ग्राम प्रधान ने नाली पाटकर रास्ते का निर्माण करने के दौरान उनकी निजी भूमि पर भी अवैध रूप से रास्ता बना दिया है। बार बार राजस्व अधिकारियों को प्रार्थना पत्र दिया गया मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। इस पर कोर्ट ने जिलाधिकारी को मौके पर जाकर मामले को हल करने का आदेश दिया था। दूसरा मामला करौदा गाव का है जहां भीटा खाते की भूमि पर पम्पिंग सेट लगाकर अवैध कब्जा कर लिया तथा तालाब की भूमि पर अवैध रूप से खेती की जा रही है। इस प्रकरण को भी हाईकोर्ट में उठाया गया तो कोर्ट ने कब्जा हटवाने का आदेश जिलाधिकारी को दिया। भूमि की पैमाइश दूसरे तहसील के राजस्व अधिकारी से जिलाधिकारी की उपस्थिति में कराने का आदेश दिया। गुरुवार दोपहर बाद जिलाधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी, मुख्य राजस्व अधिकारी, सिटी मजिस्ट्रेट, उपजिलाधिकारी जे एन सचान, तहसीलदार शाहगंज और मछलीशहर के के मिश्रा ने मौके पर जाकर पैमाइश करवाकर अवैध कब्जा हटवाया।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!