Connect with us

Uttar Pradesh

दिवाली पर भी योगी से नहीं मिला मंदिर का ठोस वादा, कहा- बनाएंगे भव्य मूर्ति

Published

on

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या में रामलला ही हैं. यहां मंदिर था है ओर रहेगा.  इसके अलावा राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार संवैधानिक दायरे में रखकर तमाम विकल्पों पर विचार करेगी

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अयोध्या में मंदिर था, है और रहेगा. उन्होंने कहा कि राम मंदिर को सिर्फ भव्यता देने की बात है वो भी जल्दी होगी. यूपी के सीएम ने यह बात अपने अयोध्या दौरे के दूसरे दिन मीडिया से बात करते हुए कही.

योगी आदित्यनाथ ने पिछले हफ्ते ऐलान किया था कि जब दिवाली पर वो अयोध्या जाएंगे तो रामभक्तों को खुशखबरी देंगे. योगी के इस बयान के बाद 6 नवंबर को उनके दौरे पर सबकी खास नजर थी, लेकिन राम मंदिर पर उनकी तरफ से कोई ठोस वादा नहीं किया गया. हालांकि, उन्होने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने का ऐलान जरूर किया.

योगी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार संवैधानिक दायरे में रहकर तमाम विकल्पों पर विचार करेगी. उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास अयोध्या की पहचान को वापस दिलाने की है. हमारी सरकार के द्वारा जो कोशिशें हो रही हैं. वो अयोध्या को उसके वास्तविक पहचान दिलाने की दिशा में उठाया गया कदम है.

साधु-संत की नाराजगी के सवाल पर योगी ने कहा कि कोई साधु-संत हमसे नाराज नहीं है. सभी संत हमारे साथ हैं. सबसे ज्यादा राम विलास वेदांती जो बोलते हैं, वो हमारे साथ बैठे हैं. उन्होंने कहा कि सारे संतों का आशिर्वाद राष्ट्रवादी सरकारों के साथ है.

योगी ने कहा कि अयोध्या में भगवान श्री राम की एक दर्शनीय मूर्ति स्थापित हो, इसके लिए चर्चा की है. सीएम ने यह भी कहा कि उन्होंने मूर्ति के स्थापित करने के लिए एक- दो जगह भी देखी है. एक पूजनीय मूर्ति मंदिर में होगी और एक दर्शनीय मूर्ति अलग होगी.

सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या के बारे में सकारात्मक सोच के साथ यहां की आध्यात्मिक गतिविधियों को सामने रख सकें, यही मंशा है. अयोध्या के लिए सरकार ने बहुत सारी योजनाएं बनाई हैं. उन्होंने कहा कि यहां बिना ढके तार हटाकर उन्हें अंडरग्राउंड किया जा रहा है. स्वच्छता के लिए विशेष आग्रह किया गया है. विकास के सर्वे का काम अंतिम चरण में चल रहा है.

सीएम योगी ने कहा अयोध्या हमारी सात धार्मिक पवित्र नगरियों में से एक है. ये श्रद्धा का एक प्रमुख केंद्र है. यहां की धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक विरासत को हमने दुनिया के सामने रखा है. इससे बहुत अच्छा संदेश पूरी दुनिया में गया है.

उन्होंने कहा कि इस वर्ष हमने दक्षिण कोरिया को निमंत्रण दिया था. कोरिया की प्रथम महिला का अयोध्या आना हमारे लिए गौरव की बात है.

योगी ने कहा कि अयोध्या में विकास के लिए हम हरसंभव कोशिश में लगे हैं. इन योजनाओं को व्यावहरिक धरातल पर उतारने के लिए हमने स्वयं निरीक्षण किया है. हमारा विश्वास है कि आने वाले कुछ सालों में अयोध्या दुनिया की बेहतरीन नगरी के रूप में स्थापित होगी. इसके जरिए आसपास के इलाकों में विकास होगा. सरयू नदी के पवित्र जल को अविरल बनाने के दिशा में कदम उठा रहे हैं.

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!