Connect with us

Uttar Pradesh

नवजोत सिंह सिद्धू के बचाव में उतरे आजम खान, बोले-सरकार ने भेजा था पाकिस्तान

Published

on

मुरादाबाद । पाक आर्मी चीफ से गले मिलने के बाद विवादों में घिरे पंजाब सरकार में मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू का सपा नेता आजम खां ने बचाव किया है। बोले कि सिद्धू वहां भारत सरकार की इजाजत से गए थे। किसी का नाम लिए बगैर कहा कि मैं सिर्फ सिद्धू की बात नहीं कर रहा हूं, मैं उन देशभक्तों की बात कर रहा हूं जिन्होंने राम जानकी रथ चलाकर देश को लहूलुहान किया था। जिन्ना की मजार पर जाकर माथा टेका था। देश के मौजूदा प्रधानमंत्री तो बिना सिक्योरिटी क्लीयरेंस के पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सालगिरह में शरीक हुए थे। मोदी जी यदि कश्मीरी शॉल और मलिहाबादी आम लेकर जाएं तो उन्हें भी जायज नहीं कहा जा सकता है।

मीडिया के समक्ष रखे विचारः आजम ने यह बातें बुधवार को ईदगाह में नमाज के बाद मीडिया से कहीं। भाजपा की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां विभिन्न नदियों में प्रवाहित करने पर कहा कि चुनाव सामने है। अटल जी इतने महान थे कि जिंदगी में भी भाजपा को दिया और जाने के बाद भी दे रहे हैं। केंद्रीय शहरी मंत्रालय की रिपोर्ट में रामपुर का नाम 111वें पायदान पर आने के सवाल पर बोले, हम रिपोर्ट से बहुत सहमत हैं। हम चाहते हैं कि कुछ भला करें।

कुर्बानी अपनों के लिए दी जाएः एक सवाल पर कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव गठबंधन बनाम फासिस्ट होगा। गोवंशीय पशुओं पर प्रतिबंध के सवाल पर कहा कि भाजपा सरकार आने के बाद बीफ का एक्सपोर्ट ढाई गुना बढ़ गया है। बीफ के सबसे बड़े सप्लायर प्रधानमंत्री के दोस्त जैन साहब हैं। हम तो हमेशा से बीफ के एक्सपोर्ट को बंद करने की मांग कर रहे हैं। एक मुर्गा भी नहीं कटना चाहिए। इससे पहले पूर्व मंत्री ने ईद की बधाई देते हुए कहा कि कुर्बानी दी जाए। अपनों के लिए दी जाए।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!