Connect with us

Uncategorized

नवाज के लिए किया ऐसी भाषा का इस्‍तेमाल जिसे सुनकर आपको भी आ जाएगी शर्म

Published

on

नई दिल्ली [स्‍पेशल डेस्‍क]। राजनेताओं द्वारा एक दूसरे पर आरोप लगाना या उन्‍हें बुरा-भला कोई नई बात नहीं है। पूरी दुनिया में इस तरह की चीजें देखी और सुनाई देती हैं। लेकिन पाकिस्‍तान में इससे भी आगे की चीज सुनाई और दिखाई देती है। यहां पर देश के पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ जिस भाषा का इस्‍तेमाल होता है वह वास्‍तव में एक नेता के शर्मसार करने वाली होगी। दरअसल हम बात कर रहे हैं पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और पाकिस्‍तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी के प्रमुख इमरान खान की।

अभद्र भाषा का इस्‍तेमाल

पिछले दिनों जलसा चकवाल में पीटीआई चेयरमैन ने एक रैली को संबोधित करते हुए नवाज शरीफ के खिलाफ जिस भाषा का प्रयोग किया उसको सही कहना किसी के लिए भी मुश्किल होगा। इतना ही नहीं उन्‍होंने इस दौरान अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के लिए भी बेहद भद्दी भाषा का इस्‍तेमाल किया। ऐसा करते समय वह भूल गए कि पाकिस्‍तान वर्षों से अमेरिका से अपने विकास, सुरक्षा और आतंकवाद से लड़ने के नाम पर पैसा लेता रहा है।

जानिए क्‍या कहा था

इस रैली में इमरान ने कहा कि नवाज शरीफ हर जगह कहता फिरता है कि मुझे क्‍यों निकाला। अदालत में जाकर जज से क्‍या बर्ताव करता है। कौम की लूटी हुई दौलत का जवाब देने की बजाए नवाज सुप्रीम कोर्ट और फौज का बदनाम कर रहा है। इससे बचने के लिए नवाज शरीफ सऊदी अरब जाता है और उनके शाह के घुटने पकड़ता है कि मुझे बचा लो मैं चोरी में पकड़ा गया हूं।

 

ट्रंप के लिए भी अभद्र भाषा

इस रैली में उन्‍होंने अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप का जिक्र करते हुए कहा कि डोनाल्‍ड ट्रंप आज पाकिस्‍तानियों को जलील कर रहा है वह भी सिर्फ 25 अरब रुपयों के लिए। नवाज शरीफ और इस जैसे लोग अपने लिए कौम को ट्रंप के हाथों जलील करवाते हैं, वह भी सिर्फ 25 अरब डॉलर के लिए। इतने के तो इस खाकसार के बेटे के दो टावर दुबई में हैं। इस दौरान उन्‍होंने नवाज के भाई को भी जमकर लताड़ लगाई और दोनों को चोर कहकर पुकारा।

नवाज के भाई को भी कोसा

रैली में उन्‍होंने कहा कि जिन सड़कों के ऊपर कभी कभी बस नजर आती है उसमें पौने तीन अरब का घोटाला हुआ है। इसके पीछे एक आदमी है जो आजकल हैट पहनकर अमेरिकियों को बताता है कि वह उनके जैसा है। उन्‍होंने इस दौरान लोगों से पूछा कि चोर आपके घर में आए और चोरी करते हुए पकड़ा जाए तो क्‍या आप उसे मिठाई खिलाओगे या गले में हाथ डालेंगे या फिर फूल फैकेंगे या दो थप्‍पड़ लगाकर पुलिस के हवाले करोगे। पीटीआई की तरफ से इस वीडियो को ट्वीट भी किया गया है, जिसमें इमरान को यह सब कहते सुना जा सकता है। इतना ही नहीं एक दूसरे ट्वीट में पार्टी ने डोनाल्‍ड ट्रंप को भी नवाज शरीफ की तरह भ्रष्‍टाचारी बताया गया है। इसमें कहा गया है कि यदि ऐसा नहीं होता तो पाकिस्‍तान खुद पर गर्व करने वाला देश होता।

पहली बार नहीं हुआ है ऐसी भाषा इस्‍तेमाल

आपको बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है कि पाकिस्‍तान में किसी नेता ने पीएम या पूर्व पीएम के लिए इस तरह की भाषा का इस्‍तेमाल किया हो। पाकिस्‍तान की सियासत की बात करें तो यहां पर इस तरह की भाषा रैलियों में आमतौर पर सुनाई देती है। इस तरह की भाषा का इस्‍तेमाल खुद नवाज भी अपने विरोधियों के लिए कर चुके हैं।

ट्रंप से खफा है पाकिस्‍तान

डोनाल्‍ड ट्रंप की यदि बात करें तो जब से अमेरिका ने पाकिस्‍तान को दी जाने वाली आर्थिक मदद को रोका है तब से ही पाकिस्‍तान की सियासत में बवाल मचा हुआ है। खुद इमरान खान ने इसको लेकर जारी किए अपने बयान में कड़ी नाराजगी जाहिर की है और पाकिस्‍तान सरकार से कड़े कदम उठाने की अपील तक की है। इतना ही नहीं पाक के केंद्रीय मंत्री ने यहां तक कहा है कि अमेरिका ने हमेशा ही पाकिस्‍तान से धोखेबाजी की है।

भारत में मांग ली जाती है तुरंत माफी

पाकिस्‍तान में जिस तरह की बयानबाजी एक दूसरी पार्टी के नेता करते हैं उस तरह की बयानबाजी भारत में शायद ही सुनी जाती है। यदि कोई सुनी भी जाती है तो उससे या तो पार्टी अपना पल्‍ला झाड़ लेती है या फिर वो व्‍यक्ति खुद ही बैकफुट पर आकर माफी मांगने में देर नहीं करता है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!