Connect with us

Uncategorized

निर्वाण टाइम्स फ़तेपुर खास खबर

Published

on

निर्वाण टाइम्स फ़तेहपुर ख़ास खबर

विवेक मिश्र

गौकशी और धर्म परिवर्तन को लेकर बजरंगियों के तेवर सख्त, जिला प्रशासन को दी आंदोलन की चेतावनी ।

फ़तेहपुर में बीते कुछ महीनों के अंदर बढ़ रहे धर्म परिवर्तन के मामले को लेकर व शहर क्षेत्र में बढ़ रही गौकशी में लगाम न लग पाने से नाराज़ बजरंग दल के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने तहसील परिसर का घेराव करते हुए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र दिया, बजरंग दल के राष्ट्रीय पदाधिकारी वीरेंद्र पांडे ने कहा कि जिले में हिन्दू परिवारों को लालच देकर व बरगलाकर ईसाई मिशनरियां धर्म परिवर्तन करा रहीं हैं व जगह जगह बिना अनुमति के अवैध चर्च बनाये जा रहे हैं वहीं कई स्थानों पर गौकशी के मामलों में विराम नहीं लग पा रहा है जिसको लेकर जिला प्रशासन ने आज तक संवेदन शीलता नहीं दिखाई है वहीं कांजी हॉउस न बनने से सरकार पर भी रोष ब्यक्त किया, श्री पांडे ने कहा कि पशुपालक भी रोज गाय का दूध दुहकर उन्हें आवारा छोड़ देतें हैं जिससे दर्जनों गाय घायल हो जाती हैं जो निहायत गलत है इस पर भी अंकुश लगाने की जरूरत है।

 

गौतस्करों के गुर्गे बने पुलिस चौकियों के दलाल, गौकशी के वीडियो ने महकमे में मचाया बवाल

 

विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने शहर क्षेत्र में हो रही गौकशी के बारे में कई बार जिम्मेदारों को अवगत कराया मगर आज तक कोई प्रभावी कार्यवाही नहीं हुई, जबकि इस बाबत विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल के पदाधिकारी आनंद तिवारी ने बताया कि प्रशासन के गौकशी पर लगाम न लगाने की वजह से सबूत के रूप में गौकशी के कई वीडियो कार्यकताओं ने जान पर खेल कर बनाया है जिसमें बाकरगंज चौकी पुलिस की संलिप्तता स्पष्ट नजर आ रही है साथ की कई चौकियों आबूनगर, मुराईन टोला के कुछ चर्चित सिपाही भी इसमें संलिप्त हैं इन पर कार्यवाही न होने की दशा में बजरंग दल आंदोलन के लिए बाध्य होगा। वहीं सूत्रों की माने तो शहर क्षेत्र के मसवानी, ए आर टी ओ ऑफिस के पीछे,पनी मोहल्ला, तुराब अली का पुरवा, सनगांव, अस्ती, कोतवाली के पीछे, सैय्यडवाड़ा, कसौड़ा, अंदौली ये गौकशी के चिन्हित स्थान हैं जिसकी जानकारी हमेशा से बीट के सिपाहियों व दरोगाओं को रहती है फिर भी इसमें अंकुश न लग पाना जिला प्रशासन व बीजेपी के जिम्मेदारों के लिये शर्म की बात है। जबकि योगी सरकार ने आने के बाद से ही प्रदेश के सभी बूचड़खानों को बंद करा दिया था साथ ही गायों के संरक्षण को लेकर सख्त निर्देश दिए थे फिर भी फ़तेहपुर के अफसरों ने आज तक इसको गंभीरता से नहीं लिया साथ की कुछ चर्चित वर्दीधारियों ने इसको अपनी काली कमाई का हिस्सा बना रक्खा है वहीं शहर के कुछ चर्चित गौतस्करों के गुर्गे कुछ चौकियों में अक्सर बैठे नजर आते हैं जब तक इन वर्दीधारियों पर कार्यवाही न होगी तब तक इसमें लगाम लग पाना असम्भव है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!