Connect with us

LOCAL NEWS

पत्नी एवं एक बच्चे के बाप ने बिना तलाक लिए बाटें दूसरी शादी के निमंत्रण पत्र…

Published

on

 

जी हाँ, यह किस्सा है जिला सीतापुर के राम कोट थाने के अंतर्गत अरथाना रोड, रामकोट के निवासी विकास कश्यप का I

राजधानी लखनऊ की रहने वाली महिला आशा देवी वर्तमान आयु करीब 30 वर्ष की शादी वर्ष 2008 में जिला सीतापुर के रामकोट के निवासी विकास कश्यप से भारतीय रीति रिवाज से हुई थी, शादी के बाद आशा देवी को एक पुत्र रत्न भी प्राप्त हुआ I महिला का आरोप है कि शादी के बाद से ही पति विकास का रवैया उनके प्रति अच्छा नहीं रहा और वह आये दिन लड़ाई झगड़ा एवं शराब पीकर उनके साथ मारपीट कर उन्हें घर से बाहर निकाल देता था, और कहता था कि जब तुम्हारे घर वाले मुझे मोटर साइकिल दें देंगें, तब मेरे घर आकर रहना I रोज रोज की असहनीय मार एवं तानों से त्रस्त एवं पति द्वारा घर से निकाल देने के बाद महिला मजबूरन अपने पुत्र के साथ लखनऊ में अपने पिता के घर में रह कर अन्य घरों में घरेलु काम काज कर गुजर बसर कर रही है, इस बीच पति द्वारा आज तक उसे एवं उसके पुत्र के जीवन यापन के लिए एक पैसा भी नहीं दिया गया है I

इस विवाद का मुकदमा भी लखनऊ न्यायालय में चल रहा है, कानूनन हिन्दू धर्म मे पहली पत्नी के रहते या बिना तलाक लिए दूसरी शादी करना अपराध है I लेकिन विकास ने सभी कानूनों को दरकिनार कर 20 फरवरी 2018 को ग्राम लालपुर की रहने वाली पारुल कश्यप से शादी करना तय कर ली I
हद पार तो तब हो गयी जब विकास द्वारा उसकी दूसरी शादी का निमंत्रण पत्र बांटा जाने लगा I (शादी का निमंत्रण पत्र संलग्न)

पीड़ित महिला अपने पुत्र एवं परिवार समेत कल देर रात 10 बजे शिकायत पत्र एवं विकास द्वारा बांटे शादी के निमंत्रण पत्र के साथ सीतापुर के थाना रामकोट में पहुंच कर आप बीती सुना कर लगाई न्याय की गुहार I

 

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!