Connect with us

Uncategorized

-पुणे पुलिस का बड़ा खुलासाः मोदी की हत्या की साजिश रच रहे नक्सली*

Published

on

 

राष्ट्रीय | 09जून 2018 नयी दिल्ली-मुंबई, 09 जून ()एक बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए जांच एजेंसियों ने बताया है कि नक्सली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की योजना बना रहे हैं। हाल ही में हुईं कुछ गिरफ्तारियों के बाद खुलासा हुआ है कि नक्सली पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की तर्ज पर प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। एक चिट्ठी के जरिये ये सारी बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि 18 अप्रैल को रोणा जैकब द्वारा कॉमरेड प्रकाश को एक चिट्ठी लिखी गयी जिसमें कहा गया कि अब हिंदू अतिवाद को हराना जरूरी हो गया है क्योंकि मोदी के नेतृत्व में यह लोग आगे बढ़ते चले जा रहे हैं और बंगाल और बिहार को छोड़कर अधिकतर बड़े राज्यों की सत्ता इनके हाथों में आ चुकी है।
चिट्ठी में लिखा गया है कि मोदी को रोकना जरूरी है। इसलिए मोदी के रोड शो को टारगेट करना ठीक रहेगा। कहा गया है कि यह सुसाइड अटैक भी हो सकता है। सुरक्षा एजेंसियां इस चिट्ठी के सामने आने के बाद से सतर्क हो गयी हैं। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले प्रधानमंत्री के खिलाफ चल रही इस बड़ी साजिश को गृह मंत्रालय ने भी गंभीरता से लिया है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक बयान में कहा है कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं हो सकता और हम ऐसी साजिशों और चिटिठ्यों की कड़ी भर्त्सना करते हैं।

इस बीच, मुंबई से मिली खबरों के अनुसार, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को कथित तौर पर माओवादी संगठनों की ओर से धमकी भरे दो पत्र मिले हैं। ये पत्र पुलिस को सौंप दिए गए हैं। राज्य के गृह विभाग के सूत्रों ने आज यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यालय को ये पत्र एक हफ्ता पहले मिले। सूत्रों ने बताया, “गढ़चिरौली में हाल में नक्सल विरोधी अभियान चलाए गए थे जिसके बाद ये पत्र मिले। अभियान में 39 माओवादी मारे गए। आगे की जांच के लिए पत्र पुलिस को सौंप दिए गए।’’ मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक दोनों ही पत्रों में गढ़चिरौली मुठभेड़ों का जिक्र है। इनमें फडणवीस और उनके परिवार के सदस्यों के धमकी दी गई है।
[6/9, 6:22 AM] Op Pandey: *मृतकों के घर मचा कोहराम, खुटहन, सरायख्वाजा में हुई घटना*

सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के खजुरा गांव में शुक्रवार की शाम बारिश के दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से सगे भाई सोमारु पाल (50), कैलाश पाल (48) पुत्र रघुनाथ पाल की मौत हो गई। इनके अलावा राममुरत पाल (62) इनकी भी मौत हो गई। जब बारिश हो रही थी कि यह लोग भेड़ चरा रहे थे। बारिश से बचने के लिए एक नीम की ओट में छुप गए और वहीं आकाशीय बिजली गिरने से इनकी मौत हो गई। मौत की खबर लगते ही गांव में कोहराम मच गया।
खुटहन संवाददाता के अनुसार स्थानीय क्षेत्र में दो अलग-अलग स्थानों पर शुक्रवार के तीसरे पहर हल्की बरसात में तेज गरज चमक के बीच गिरी आकाशीय बिजली मे जहां भाई बहन झुलस गये। वहीं एक मंदिर के गुंबज में दरार आ गई। गंभीर रूप से झुलसे भाई को उपचार के लिए परिजन जिला चिकित्सालय ले गये जबकि बहन की हालत सामान्य है। बताते हैं कि उसरौली गांव निवासी छोटू प्रजापति (19) पुत्र अखिलेश अपनी 16 वर्षीया बहन जुगुनू देवी को लिवाकर पट्टीनरेन्द्रपुर बाजार गया था जहां आकाशीय बिजली की चपेट मे आ गया। छोटू की हालत गंभीर बतायी जाती है। इसी तरह मेढ़ा बाजार स्थित राम जानकी मंदिर पर बिजली गिरने से गुंबद का शीर्ष भाग काला हो गया। उसमें दरार भी आ गई। घटना के समय मंदिर के पुजारी भीतर ही बैठे थे। संयोग अच्छा था कि कोई अनहोनी घटना नहीं हुई।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!