Connect with us

Amethi

बड़ा जोखिम उठा निभाया फर्ज

Published

on

 

अमेठी। कोरना महामारी के दौरान एक डॉ ने जान जोखिम में डालकर अपना फर्ज निभाते हुए महिला का ऑपरेशन कर जच्चा बच्चा की जान बचाने का सराहनीय कार्य किया। जिला अस्पताल के सी एम एस डॉ आर के सक्सेना ने अपनी परवाह न कर कोंरोना पॉजिटिव महिला की जिंदगी बचाने के लिए आनन फानन में आपरेशन करके इंसानियत का बहुत बड़ा आदर्श प्रस्तुत किया ।लाक डाउन के समय मई माह में एक गर्ववती महिला मलिक मुहम्मद जायसी संयुक्त जिला चिकित्सालय में भर्ती थी। उसकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई थी। महिला गरीब परिवार की थी। जिसके घर वालों ने बाहर अन्य जगह इलाज कराने में असमर्थता जाहिर किया था । महिला की जिंदगी बचाने के लिए आपरेशन जरूरी था। डॉ आर के सक्सेना ने अपनी जिंदगी को दांव पर लगा कर महिला का आपरेशन किया और जिंदगी बचाने में कामयाब रहे। 14 दिन तक पूरा अस्पताल बन्द रहा। डॉ आर के सक्सेना को भी कोरेन्टीन होना पड़ा लेकिन कोराना योद्धा के रूप में पूरे जनपद में चर्चा का विषय बन गए। डॉ आर के सक्सेना ने अपने नेतृत्व में 20 हजार से अधिक लोगो की जांच कराया।डॉ सक्सेना ने नव निर्मित जिला अस्पताल में बने कोविड-एल 1 सेंटर में कोराना महामारी से लोगों को बेहतर इलाज की व्यवस्था की है। इन्हीं की देख रख में कोराना मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!