Connect with us

LUCKNOW

भारतीय जनता पार्टी यात्राओं और जातीय सम्मेलनों से साधेगी मिशन 2019

Published

on

लखनऊ [आनन्द राय]। लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी भाजपा यात्रा और जातीय सम्मेलनों के जरिये उत्तर प्रदेश में 73 से अधिक सीटें जीतने की योजना तैयार कर रही है। इसकी रूपरेखा लगभग बन गई है लेकिन, 11 और 12 अगस्त को मेरठ में होने वाली प्रदेश कार्यसमिति में अंतिम रूप दिया जाएगा।

भाजपा ने 2017 के चुनाव से पहले तबके प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में झांसी में कार्यसमिति की और परिवर्तन यात्रा निकालने का संकल्प लिया।

तब पूरे प्रदेश के चार क्षेत्रों से परिवर्तन यात्रा निकली और इस यात्रा ने सपा सरकार के खिलाफ माहौल बनाने में सबसे अहम भूमिका निभाई। अब भाजपा की प्रदेश और केंद्र दोनों जगह सरकार है। भाजपा इस बार परिवर्तन की जगह अपने विकास कार्यों को लेकर यात्रा निकालने की तैयारी कर रही है। इस बार भी चारों क्षेत्रों से यात्रा निकलनी है और उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय हरी झंडी दिखाएंगे।

वैसे भी मोदी और शाह की उप्र में सक्रियता बढ़ गई है। बारिश की वजह से अगस्त में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम नहीं होने हैं लेकिन, इसके बाद उप्र में कम से कम हर पखवारे उनकी एक सभा होनी है। अमित शाह को भी लगातार दौरे करने हैं। भाजपा के प्रदेश महामंत्री और पश्चिम के प्रभारी विजय बहादुर पाठक तथा क्षेत्रीय अध्यक्ष अश्विनी त्यागी ने मेरठ की बैठक के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू कर दी है।

विपक्ष के महागठबंधन को देखते हुए भाजपा अपने चुनावी मुहिम में कोई कोताही नहीं करना चाहती है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह काशी और ब्रज क्षेत्र में प्रदेश भर के रणनीतिकारों के साथ की गई बैठक में अपना एजेंडा स्पष्ट कर चुके हैं। हर बूथ पर 55 फीसद वोट के साथ ही 73 से अधिक लोकसभा सीटें जीतनी हैं। इसके लिए पार्टी को बूथ स्तर तक सक्रिय किया जा रहा है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!