Connect with us

Uncategorized

भ्रष्टाचार में फलता फूलता ब्लाक अखण्डनगर तथा बडौराख्वाजापुर गांव की ग्रामीणों में फैल रहा रोष प्रधान तथा पंचायत सचिव व ए० डी० ओ०पंचायत की मिलीभगत से सरकारी राशन की दुकान की कार्यवाही भंग कर अधिकारी है मौन नहीं करना चाहते अग्रिम कोई कार्यवाही*

Published

on

सुल्तानपुर  :विकास खण्ड अखण्डनगर के अन्तर्गत ग्राम पंचायत बडौराख्वाजापुर जिला सुलतानपुर में उचितदर सरकारी दुकान काफी समय से सरकारी दुकान निरस्त थी जिसमें खण्ड विकास अधिकारी अखण्डनगर भी नौकरी कम कर रहे है राजनीति ज्यादा ,व ब्लाक के अधिकारीयों के मन- माने ढंग से ग्राम प्रधान के दबाव में नहीं चाह रहे राशन के दूकान की चयन प्रक्रिया को आगे बढाना जिससे ग्रामीणों में रोष फैल रहा है ब्लाक अखण्डनगर में को अधिकारी – कर्मचारी नहीं चाह रहे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना वल्कि सरकारी धन का कर रहे बन्दर बांट जनता का हक कागज में दिखा कर शासन को अवगत करते रहे हैं,किसी भी जनता के शिकायत करने पर आई जी आर एस पोर्टल पर लगते है गुमराह जनक आख्या ,जिसके प्रस्ताव हेतु ग्राम पंचायत की खुली बैठक ग्राम प्रधान *श्रीमती शोभा देवी* और पंचायत सचिव *श्री अमरवीर सिंह* द्वारा दिनांक 08-02-2018 को आहुत की गयी थी तथा ग्रामीणों का कथन है कि प्रधान और पंचायत सचिव (जो ग्राम प्रधान के राजनैतिक क्रिया- कलापों में सहयोग करते है ) ने जब देखा उनके चहेते व्यक्ति के पक्ष में प्रस्ताव नहीं किया जा सकता क्योंकि विपक्ष की संख्या तीन गुने से ज्यादा थी | तब इनके द्वारा ( प्रधान व पंचायत सचिव ) रजिस्टर गायब करवा लिया गया ग्रामीणों के हंगामा पर स्थानीय अखण्डनगर की पुलिस द्वारा पंचायत सचिव से तहरीर ली गयी जिस पर कार्यवाही आज भी ठंडे बस्ते में बन्द है ग्रामीणों के द्वारा जब विकास खण्ड कार्यालय अखण्डनगर का घेराव किया गया तब खण्ड विकास अधिकारी *विनय कुमार मिश्रा* के हस्तक्षेप पर पुनः दिनांक 22-02-2018 को उचित दर विक्रेता की दुकान हेतु खुली बैठक दिनांक 09-03-2018 को आहुत की गयी परन्तु प्रधान और पंचायत सचिव ये भलीभांति जानते थे कि उनके नाम दुकान हेतु प्रस्ताव नहीं हो सकेगा तब दिनांक 28-02-2018 को लगभग छ: माह बिलम्ब से पुराने कोटेदार *श्रीमति प्रेमा देवी पत्नी रमापति* द्वारा एक वाद (मुकदमा ) श्रीमान उपायुक्त खाद्य फैजाबाद के न्यायालय में दायर करवा दिया गया इसी सम्बन्ध में कोटा चयन हेतु बैठक दिनांक 09-03-2018 के एक दिन पुर्व दिनांक 08-03-2018 को खण्ड विकास अधिकारी अखण्डनगर के सम्मुख प्रस्तुत किया गया जिस पर खण्ड विकास अधिकारी द्वारा सहायक विकास अधिकारी (पंचायत ) को न लिख कर सीधे ग्राम पंचायत सचिव अमरवीर सिंह को आदेश हुआ कि *”नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करायें उक्त कार्यवाही से समयान्तर्गत सभी को सूचना अवगत करायें”* ग्राम पंचायत सचिव श्री अमरवीर सिंह जो नौकरी कम राजनीति ज्यादा करते एक कदम अागे बढ़ कर नियम और कानून की धज्जियाँ उडाते हुए एक पत्र जो ग्राम प्रधान के नाम संबोधित था और ग्राम पंचायत सचिव द्वारा दिनांक 08-03-2018 को हस्ताक्षरित था| दिनांक 09-03-2018 की खुली बैठक अग्रिम सूचना अस्थगित करने हेतु लिख कर सुबह चस्पा करवा दिये और जब सुबह लगभग 10:00 बजे सैकड़ों ग्रामवासी पंचायत भवन पहुंच कर इस स्थगित सूचना को पढ़ते व देखते है तब खण्ड विकास अधिकारी के कार्यालय पर पहुँच कर वी० डी०ओ० अखण्डनगर का घेराव करते है उक्त ग्रामीणों को दूसरे राशन की दुकान पर राशन लेने जाना पड़ रहा है उक्त कोटेदार द्वारा ग्रामीणों को राशन देने से मना कर देता जिससे ग्रामीणों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और ग्रामीणों में आक्रोश फैल रहा यदि कार्यवाही जल्द सुनिश्चित नहीं की गयी तो इसका जिम्मेदार उक्त अधिकारीगण ही होंगे |

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!