Connect with us

Politics

माही ने मार-मार कर खोल दिया धागा, IPL में आखिरकार फिर से कर दिखाया ये कमाल

Published

on

नई दिल्ली, । महेंद्र सिंह धौनी की धमाकेदार पारी की बदौलत आइपीएल 11 के 25वें मुकाबले में चेन्नई ने बैंगलोर को 5 विकेट से मात दे दी। बैंगलोर के खिलाफ इस जीत के साथ ही चेन्नई की टीम अंकतालिका में टॉप पर आ गई है। इस मुकाबले में महेंद्र सिंह धौनी ने अपने ट्रेडमार्क स्टाइल में जोरदार छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाई। आइपीएल में ये चौथा मौका रहा जब धौनी ने छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाई हो। धौनी ने इस मैच में धमाकेदार पारी खेलते हुए सिर्फ 34 गेंदों में नाबाद 70 रन का पारी खेली। इसी के साथ धौनी ने एक ऐसा काम भी कर दिया जो वो आइपीएल में पिछले चार साल से नहीं कर पा रहे थे।

4 साल बाद धौनी ने किया ये कमाल

मौजूदा आइपीएल में महेंद्र सिंह धौनी जबरदस्त फॉर्म में हैं। धौनी ने बैंगलोर के मैदान पर धमाकेदार पारी खेली। धौनी ने 34 गेंदों में नाबाद 70 रन तो बनाए ही, लेकिन इस पारी के दौरान लगाए गए उनके 7 छक्के देखने लायक थे। धौनी को हालिया समय में क्रीज़ पर आकर सेट होने में थोड़ा टाइम लगता है, लेकिन बैंगलोर में तो धौनी ने दूसरी गेंद का सामना करते ही अपने मंसूबे बयां कर दिए। उन्होंने दूसरी गेंद का सामना करते हुए दमदार छक्का जड़ा। बैंगलोर के गेंदबाज़ों की धज्जियां उड़ाने से पहले धौनी ने पंजाब के गेंदबाज़ों पर भी कहर बरपाया था। धौनी ने मोहाली में 44 गेंदों का सामना करते हुए नाबाद 79 रन बनाए थे। इस मैच में भी उन्होंने 5 छक्के जड़े थे। पंजाब के खिलाफ बनाया गया ये स्कोर धौनी की सर्वश्रेष्ठ आइपीएल स्कोर भी है। इस की साथ मौजूदा आइपीएल में धौनी ने दो अर्धशतक जमा दिए हैं। 4 साल के बाद ऐसा देखने को मिला है जब धौनी ने एक ही आइपीएल में दो-दो अर्दशतक जमाए हों। इससे पहले धौनी ने 2013 के आइपीएल में 4 अर्धशतक जड़े थे, लेकिन इसके बाद के सभी सीजन में उनके बल्ले से सिर्फ एक-एक अर्धशतक ही नि

धौनी ने ऐसी दिलाई जीत

74 रन पर चार विकेट गिरने के बाद रायुडू और कप्तान धौनी ने पारी को संभाला। रायुडू ने 40 गेंदों पर लगातार दूसरे मुकाबले में अर्धशतक पूरा किया। धौनी और रायुडू ने पांचवें विकेट के लिए 101 रन जोड़े। रायुडू ने 53 गेंदों पर आठ छक्के और तीन चौके की मदद से 82 रनों की पारी खेली। इसके बाद धौनी ने अपना पुराना अंदाज़ दिखाते हुए 34 गेंदों पर सात छक्के और एक चौके की मदद से मैच जिताऊ पारी खेली। आखिरी ओवर में सीएसके को जीत के लिए 16 रनों की जरूरत थी, जिसमें ड्वेन ब्रावो (नाबाद 14) ने एक चौका और एक छक्का लगाकर अपनी टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया और फिर धौनी ने विजयी छक्का लगाकर चेन्नई को जीत दिला दी।

चिन्नास्वामी में हुई छक्कों की बरसात

इस मैच में धौनी के धुरंधरों और विराट कोहली के चैलेंजर्स ने मिलकर 33 छक्के जड़े। ये आइपीएल के इतिहास में रिकॉर्ड बन गया। क्योंकि इससे पहले आइपीएल के किसी भी मुकाबले में कभी भी 33 छक्के नहीं लगे थे। इस मैच में चेन्नई की तरफ से 17 तो बैंगलोर की तरफ से 16 छक्के लगे।

 

 

आरसीबी ने बनाया विशाल स्कोर

इससे पहले सीएसके ने टॉस जीतकर आरसीबी को बल्लेबाजी का न्योता दिया। कप्तान विराट कोहली (18) कुछ खास नहीं कर पाए। एबी डिविलियर्स (68) और क्विंटन डि कॉक (53) की दक्षिण अफ्रीकी जोड़ी ने मोर्चा संभाला। दोनों ने 49 गेंदों पर दूसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी पूरी की। डि कॉक ने 35 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। लेकिन चेन्नई के लिए की गई धौनी और रायुडू की गई 101 रन की पार्टनरशिप डिविलियर्स और डि कॉक की साझेदारी पर भारी पड़ गई।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!