Connect with us

Uncategorized

वाराणसी पुलिस का कानूनी हथौड़ा पत्रकारो पर*

Published

on

*वाराणसी पुलिस का कानूनी हथौड़ा पत्रकारो पर*

*चोलापुर*

चोलापुर क्षेत्र के पुराने पत्रकार व दैनिक हिंदुस्तान के वरिष्ठ संवाददाता चन्द्रप्रकाश सिंह कि निष्पक्ष लेखनी से ऊब पुलिस आखिरकार उनके ऊपर दबाव बनाने के उद्देश्य से उनका विपक्षी खोज निकाल अंततः मुकदमा फर्जी लिख ही डाला। जब पत्रकार चन्द्रप्रकाश सिंह को अपने ऊपर फर्जी मुकदमा शहर के नामचीन थाने पर दर्ज होने का पता चला तो उनके होश उड़ गए क्योकि उनके स्थानीय थाने में शांति भंग की धारा में मुकदमा भी दर्ज नही और किसी के इशारे पर संगीन धाराओं में शहर के थाने पर मुकदमा दर्ज हो गया। इस तथ्य को देखते हुए चोलापुर शहीद स्मारक पर चोलापुर के सभी संवाददाताओ की एक बैठक हुई जिसमें निर्णय लिया गया कि एक पत्रक जिलाधिकारी व एसएसपी वाराणसी को सौप इस फर्जी मुकदमे को हटाने के लिए आग्रह किया जाएगा जिससे पत्रकार अपनी लेखनी निष्पक्ष चला सके।

हास्यास्पद:

कैंट थाने में कचहरी पर मारपीट धोखाधड़ी जान मारने की धमकी जैसे धाराओं में 307, 147, 323, 392, 420, 511 मुकदमे लिखे गए जिस स्थान पर एक से एक वरिष्ठ व सज्जन लोगो का जमावड़ा रहता है तथा जहां कई सीसी कैमरे लगे हैं लेकिन कोई इस घटना को नही देख पाया।

*निर्दोष पर लाद दिये कई गंभीर मुकदमें*

सरकार ने जहां सांसद-विधायकों को प्रशासनिक मामलों में हस्तक्षेप ना करने की हिदायत दे रखी है, अब सिर्फ संविधान का चतुर्थ स्तंभ ही पुलिस की राह में रोड़ा रह गया है। अतः अब पत्रकारों पर दबाव बनाने के उद्देश्य से वाराणसी पुलिस प्रशासन ने पत्रकारों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। जनपद के कई थानों में पत्रकारों को निशाना बनाते हुए उनके खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा लिखकर उन्हें अर्दब में लिए जाने का काम अनवरत जारी है। अगर मीडियाकर्मी समय रहते नहीं चेतेंगे तो वह दिन दूर नहीं जब हर मीडियाकर्मी हाथ में फर्जी मुकदमे की कॉपी लेकर यहां – वहां गुहार लगाता नजर आएगा।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!