Connect with us

NATIONAL NEWS

विकास दुबे मुठभेड़ में मारा गया गया

Published

on

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे आज कानपुर में एक मुठभेड़ में मारा गया है। जानकारी के मुताबिक, उज्जैन से कानपुर आ रही यूपी एसटीएफ की गाड़ी के रास्ते में पलटने के बाद विकास दुबे ने भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस और विकास दुबे के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। गाड़ी पलटने के बाद मोस्टवांटेड विकास दुबे ने पिस्टल छीनकर गोली चलाई। एनकाउंटर में गंभीर रूप से घायल विकास को पुलिस अस्पताल लेकर गई है। जिसके बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस की ओर से इसकी पुष्टि की गई है।

कानपुर के बिकरु गांव में दो जुलाई की रात को आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर देशभर में सुर्खियों में आया उत्तर प्रदेश का मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे गुरुवार सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में मिला। छह दिन की तलाश के बाद मध्य प्रदेश पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, जिस कुख्यात अपराधी को लेकर कई राज्यों की पुलिस अलर्ट थी, उसकी गिरफ्तारी उतनी ही नाटकीय ढंग से हुई।

मध्य प्रदेश पुलिस उसको दबोचने का दावा कर रही है, मगर घटनाक्रम के वीडियो फुटेज उसके समर्पण करने की पटकथा सुना रहे हैं। यही वजह है कि बलिदान देने वाले पुलिसकर्मियों के रिश्तेदार सहित आम लोग कह रहे हैं कि विकास दुबे की गिरफ्तारी नहीं हुई है, उसने पूरी रणनीति के तहत समर्पण किया है। बताया तो यह भी जा रहा है कि खुद विकास ने भी कहा कि वह गिरफ्तारी देने ही यहां आया है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने उसकी पत्नी और बेटे को भी लखनऊ से हिरासत में लिया है। उधर, कानपुर और इटावा में पुलिस से हुईं दो मुठभेड़ों में उसके दो और गुर्गे ढेर कर दिए गए। पुलिस ने विकास से जुड़े पांच लोगों को अब तक मार गिराया है। इसके साथ ही अब तक दो पुलिसवालों सहित दस लोगों को गिरफ्तार किया है

पुलिस ने पुष्टि की है कि कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!