Connect with us

Uncategorized

सात लाख की ‘मिठाई’ लेकर पहुंचा जेई, विजिलेंस इंस्पेक्टर बोला मुझे शुगर है, कई घेरे में

Published

on

फतेहाबाद। वेयर हाउस कारपोरेशन का एक जेई मिठाई के डिब्बे में सात लाख रुपये लेकर उकलाना के सुरेवाला चौक से फतेहाबाद पहुंचा और फिर हिसार चला गया। जेई का कहना है कि उसे एक वरिष्ठ अधिकारी ने  यह डिब्‍बा एक विजिलेंस अधिकारी को देने को कहा था। हिसार में विजिलेंस अधिकारी को डिब्‍बा लेने आया ही नहीं। जेई ने विजिलेंस अधिकारी को फोन कर कहा कि सर, आपके लिए मिठाई आई है तो उसने कहा- मुझे शुगर है नहीं चाहिए।

इस पूरे मामले का सीएम फ्लाइंग फतेहाबाद व हिसार में स्टिंग ऑपरेशन कर रही थी। फिलहाल सात लाख की नकदी को सीएम फ्लाइंग ने कब्जे में ले लिया है, मगर आगे की कार्रवाई को लेकर संशय की स्थिति है। इस पूरे घटनाक्रम की वीडियो क्लिप भी वायरल हुई है, जिसमें जेई ने सारी कहानी बयां की है। इस मामले में कई लोगों के घेरे में आने की संभावना है।

वायरल वीडियो क्लिप में वेयर हाऊस कार्पोरेशन में ठेके पर काम कर रहे रिटायर्ड जेई एमएल नारंग ने बताया,  बुधवार को मैं अंबाला से किसी काम से आ रहा था। इस बीच विभाग के एक एक्सईएन का फोन आया और उन्होंने कहा कि यदि आप हिसार जा रहे हो तो विजिलेंस के इंस्पेक्टर को कुछ सामान देना है।

नारंग ने कहा, फिर विभाग के सचिव का फोन आया। इसके बाद मुझे एक ड्राइवर मुहैया कराया गया। मैं अंबाला से निकला तो सुरेवाला चौक के पास ठेकेदार नरेश जैन का मुनीम मिला, जिसने एक मिठाई का डिब्बा दिया। यह डिब्बा उक्त विजिलेंस इंस्पेक्टर को देना था। मुझे अंदाजा हो गया था कि इसमें रुपये हैं।

नारंग ने कहा, ‘मैं फतेहाबाद पहुंचा और अधिकारी को फोन किया। मैंने कहा कि सर किसी काम के लिए आपसे मिलना है। इस पर उन्होंने मुझे हिसार बुला लिया। हिसार पहुंचने पर देर शाम सात बजे तक मैंने डाबड़ा चौक पर इंतजार किया, लेकिन इंस्पेक्टर नहीं आए। इस दौरान इंस्पेक्टर को दो-तीन बार कॉल किया, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया। बाद में बात होने पर इंस्पेक्टर को फोन पर बताया कि आपके लिए मिठाई आई है। इंस्पेक्टर ने यह कहकर फोन काट दिया कि मुझे शुगर है, मैं मिठाई नहीं खाता। इसके बाद मैं वापस अंबाला रवाना हो गया। रास्ते में मुझे सीआइडी टीम ने रोक लिया।’

सीएम फ्लाइंग को लगी भनक, पूरे मामले का हुआ स्टिंग

सूत्रों के मुताबिक, गांव ढांड व नथवान में बने वेयर हाऊस के गोदाम के निर्माण कार्यों में धांधली की जांच विजिलेंस कर रही थी। इस जांच को ढीला रखने की एवज में 40 लाख रुपये की डील हुई, जिसमें से 25 लाख रुपये पहले ही दिए जा चुके हैं। अब सात लाख रुपये और दिए जाने थे। लेकिन, सीएम फ्लाइंग को मामले की भनक लग गई। इसके बाद टोहाना, फतेहाबाद और हिसार की टीम को अलर्ट कर दिया गया।

 

सीएम फ्लाइंग ने फतेहाबाद पहुंचने पर रुपये लेकर आ रहे अधिकारी का स्टिंग ऑपरेशन किया। इसके बाद जब अधिकारी हिसार के लिए रवाना हुआ तो टीम उसके पीछे लगी रही। सीएम फ्लाइंग की टीम में डीएसपी सीआइडी, डीआइ सीआइडी फतेहाबाद जुगल किशोर, सीआइडी टोहाना अजय सिंह, अजीत सिंह और सोमप्रकाश शामिल रहे।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!