Connect with us

Uncategorized

सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक का प्रयास लाया रंग, विदेश कमाने गये युवक का शव आयेगा भारत

Published

on

 

सुल्तानपुर:- कादीपुर नगरपंचायत के तुलसीनगर मोहल्ला निवासी भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलामहामंत्री समाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक के प्रयास से विदेश सउदी अरब के रियाद शहर मे कमाने गये युवक के मृत्योपरान्त शव को भारत वापस आने की उम्मीद बलवती हो गयी है। मामला जनपद के थानाकोतवाली देहात के सौराई गाँव का है।तीन वर्ष पहले इसी गाँव के निवासी मोहम्मद नफीस पुत्र मोहम्मद बशीर अपने बाइसवे वर्ष मे सउदी अरब के रियाद शहर मे कमाने गया था।

आर्थिक रूप से कमजोर परिजनो ने अपने पुत्र नफीस को पिता बशीर परिवार की आर्थिक हालत मजबूत करने की कल्पना करते हुये विदेश कमाने के लिये भेजा। नफीस भविष्य के सुन्दर सपने बुनते हुये रियाद मे स्थित एक बिस्कुट कम्पनी मे काम करने लगा। नफीस के विदेश कमाई से घर की हालत पटरी पर आ ही रही थी कि नियति पूरे परिवार पर कुठाराघात करते हुये।अल्पसमय मे विदेश कमा रहे नफीस को अपने आगोश मे लेते हुये मौत की नीद सुला दिया।

दिनांक 3-4-2018 से रियाद मे रह रहे नफीस का परिजनो से अचानक सम्पर्क टूट गया। परेशान परिजन वहा रह रहे अन्य सहयोगियों से पता किया तो नफीस के मौत का दुखद समाचार प्राप्त होने से पूरी तरह टूट गये। नियम कानून से अनजान पिता बशीर पुत्र का मुह देखने के लिये तड़प रहा था। शव भारत लाने की प्रक्रिया से अनजान बशीर को सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक के विषय मे जानकारी हुयी तो अब्दुल हक से मिलकर अपनी दुखभरी दास्तान बया किया तो सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक पिता बशीर को भरोसा दिलाते हुये मृतक नफीस के शव भारत वापस लाने की प्रक्रिया मे जुटते हुये ।

विदेश मन्त्री सुषमा स्वराज सहित सउदी अरब स्थिति अम्बेसी से सम्पर्क कर सारी घटना से अवगत कराते हुये शव को भारत वापस भेजने की मांग किया। अब्दुल हक के लगातार सम्पर्क और प्रयास का परिणाम रंग लाया संदिग्ध परिस्थितियों में हुयी नफीस की मौत पर जांच प्रक्रिया पूर्ण होकर सउदी अरब सरकार शव भारत भेजने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दिया।रियाद स्थित भारतीय दूतावास से दिनांक 12-6-2018 को अब्दुल हक के मेल पर सूचना आयी कि मृतक मोहम्मद नफीस पुत्र मोहम्मद बशीर निवासी ग्राम सौराई पोस्ट सेमरी पुरषोत्तमपुर थानाकोतवाली देहात जनपद सुल्तानपुर का शव दिनांक 15-6-2018 को सुबह 8.30 बजे लखनऊ एयरपोर्ट स्थित कार्गो पर पहुंच जायेगा।मृतक मोहम्मद नफीस के परिजन आवश्यक अभिलेख प्रस्तुत कर शव अपने कब्जे मे ले सकते है।

इस पूरी प्रक्रिया के समबन्ध मे भाजपा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलामहामंत्री सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक बब्लू ने बताया कि बचपन से ही अभावग्रस्त जीवन जीने के कारण मुझे समाज मे होने वाली कठिनाइयों से परिचित होकर मै अपनी क्षमता के आधार पर पीड़ित, जरुरतमंद लोगो का सहयोग करना ही अपने जीवन का उद्देश्य बना लिया हूँ।

File foto nafish

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!