Connect with us

Sultanpur

सुल्तानपुर : छुट्टा पशुओं कें आतंक से शहरवासी परेशान

Published

on

 

सुल्तानपुर :- आज जहा पर उत्तर प्रदेश की सरकार में जिले सें लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक सफाई ब्यावस्था को बिशेष ध्यान देने का काम कर रहा हैं, वही पालिका प्रशाषन नें जनपद की धज्जियां उड़ाने में जुटा हैं। बात करतें जनपद कें आवारा छुट्टे जानवर की खुलेआम छुट्टे जानवर का आतांक देखने को मिलता हैं।जनपद में अपनी जीवन यापन करनें वाले लोग गुमटी रख कर दुकान चलाते हैं लेकिन आवारा पशुओं कें आतांक सें गुमटी पर रख्खे पान कें पत्ते को भी उठा ले जाते हैं लेकिन कोई भी बिभागीय अधिकारीयों नें एक भी पशुओं को सुबिधा देने का काम नही कर रही हैं आज जनपद सुल्तानपुर में आवारा पशुओं का आतंक चरम पर पहुंच गया है की बी जे पी सरकार में नगरपालिका अध्यक्ष बबीता जयसवाल नें आवारा पशुओं कें लिए एक भी सुबिधा देने का काम नही कर रही हैं और नगर पालिका प्रशासन नें हाथ पर हाथ धरे बैठी हुयी है। आज शहर में शायद ही कोई ऐसा इलाका होगा जहां आवारा कुत्तों, टोलियों व बड़े जानवरों के झुंड से बचे हो। चाहे बाइक सावार हो या साइकिल सावार हो इन लोगो को राह चलते लोगों को इन जनवरों से काफी दिक्कतो का सामना करना पड रहा हैं।जब की सुल्तानपुर जनपद में छोटे छोटे मासूम बच्चे इसी शहर में रोज बिद्यालय जाते हैं इन आवारा पशुओं को देखते ही बिद्यालय आने जाने वाले बच्चे भी दुसरे रास्ते सें जाने को मजबूर होना पढ़ता है। बच्चों को देख कर तो कई जगहों पर कुत्ते के झुंड उन्हें काटने को भी दौड़ा लेते है। शहर क्षेत्र में ही दर्जन भर से अधिक लोग इसके शिकार भी हो चुके है। लेकिन आज भी पालिका प्रसाषन नें कोई कोई भी कार्यवाही नही की
शहर के कुछ प्रमुख चौराहो पर जैसे डाकखाना,तिकोनिया पार्क,नार्मल चौराहा,बाधमंडी चौराहा, सब्जी मंडी,दरियापुर,गोलाघाट,इन दिनों आवारा पशुओं का आतंक छा गया है। दर्जनों की संख्या में ये आवारा कुत्ते वा पशुओं का सड़को कोतवाली नगर थाने कें सामने.पर झुंड में घुमते रहते है। कब किस पर ये अटैक कर देंगे कहा ही नहीं जा सकता है। सुबह के वक्त हाथ में बैग व टिफिन आदि लेकर बिद्यालय जाने वाले छोटे स्कूली बच्चों के लिए तो यह सर्वाधिक परेशानी का सबब बन गया है। बच्चों को देख कर ये एक साथ ऐसे झपट पड़ते है कि जैसे उन्हें मन चाहा कोई चीज दिख गया हो। बड़ों की नजर पड़ती है तो वे हो-हल्ला मचा कर बच्चों को कुत्ते के झुंड से भी बचाते है। बच्चों के साथ ही कई बड़े भी इन आवारा कुत्तों के शिकार हो चुके है।वही सुपर मार्केट में स्थिति पान की दुकान लगा रख्खे शिव राम यादव नें कहा की छुट्टा जानवरों कें आतांक सें काफी परेशान हो गये हैं। जब भी गुमटी छोड कर चले जातें हैं तब छुट्टे आवारा पशुओं नें रख्खे पान कें पत्ते को जमीन पर गिरा देते हैं।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!