Uncategorised

जौनपुर,पकड़ा गया प्राइमरी स्कूल का एक और फर्जी मास्टर

पकड़ा गया प्राइमरी स्कूल का एक और फर्जी मास्टर

ओपी पाण्डेय

जौनपुर। शिक्षा विभाग का एक और मुन्ना भाई कानून के गिरफ्त में आ गया है। यह युवक फर्जी हाईस्कूल के जाली अंकपत्र के सहारे प्राइमरी का मास्टर बन गया। इस फर्जीवाड़े का खुलासा होते ही बीएसए ने उसे बर्खास्त करते हुए अब तक वेतन के रूप लिए गये सभी पैसे वापस लेने का आदेश दिया है। इस मामले का खुलासा होते ही फर्जी अंक पत्र के सहारे शिक्षक बने लोगो में हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार मुंगराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के ग्राम तरहटी निवासी संजय कुमार सिंह पुत्र कृष्णपाल सिंह की तैनाती वर्ष 2016 में विशिष्ट बीटीसी 15 हजार के विशेष चयन में हुआ था। प्रथम नियुक्ति केराकत विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय खर्गसीपुर में सहायक अध्यापक के रूप में हुई थी। बाद में केराकत से म्युचुवल ट्रांसफर कराते हुए संजय कुमार सिंह ने अपना स्थानांतरण मछलीशहर विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय घिरौची में करा लिया। इस दौरान बीएसए डा. राजेन्द्र सिंह को गोपनीय सूचना मिली कि तरहटी निवासी शिक्षक संजय कुमार सिंह का हाईस्कूल का अंकपत्र पूर्ण रूप से फर्जी है। जिसकी जांच के लिए बीएसए ने माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी बोर्ड को अनुक्रमांक 14547 23 पूर्णांक 600/ 462 अंक प्राप्त करने के संबंध में पत्र भेजा। वहां से बेसिक शिक्षा विभाग को पत्र आया कि वर्ष 2003 में हिन्दू इंटर कालेज मुंगराबादशाहपुर से हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले संजय कुमार सिंह पुत्र कृष्णपाल सिंह ने 600 में महज 310 अंक प्राप्त किया है। जबकि मुफ्तीगंज ब्लाक के खंड शिक्षाधिकारी संजय यादव ने उक्त शिक्षक द्वारा दिए गए अंक पत्र से मिलान किया तो मालूम पड़ा कि संजय ने मेरिट बढ़ाने के लिए अंकों में हेराफेरी करके 310 प्राप्तांक को कम्प्यूटर के माध्यम से 462 अंकित करा लिया था। बुधवार को रिपोर्ट आते ही बेसिक शिक्षाधिकारी ने सहायक अध्यापक संजय कुमार सिंह को सेवा से बर्खास्त कर दिया। बीएसए ने मुफ्तीगंज के एबीएसए को फर्जी शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button