Uncategorised

मुम्बई,निष्ठा प्रशिक्षण के जरिए सुधरेगी मनपा स्कूलों के बच्चों की शिक्षा

निष्ठा प्रशिक्षण के जरिए सुधरेगी मनपा स्कूलों के बच्चों की शिक्षा

रिपोर्ट-एसपी पाण्डेय

मुंबई : बृहन्मुंबई महानगरपालिका का शिक्षा विभाग अपने स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए हरसंभव कोशिश में जुटा हुआ है। बदलते समय के अनुरूप शिक्षण प्रक्रिया में परिवर्तन लाने के लिए शिक्षकों को विशेषज्ञ प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। इसी कड़ी में इन दिनों मनपा के शिक्षणाधिकारी महेश पालकर में मार्गदर्शन में मनपा स्कूलों के मुख्याध्यापकों तथा शिक्षकों को निष्ठा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण देने वाली संस्था महाराष्ट्र प्रादेशिक विद्या प्राधिकरण की के पूर्व तथा के पश्चिम वार्ड की प्रभारी हर्षा चव्हाण के मुताबिक निष्ठा प्रशिक्षण सही मायने में शिक्षकों के लिए एकात्मिक शैक्षणिक प्रशिक्षण है, जिसमें शैक्षणिक कौशल्य में वृद्धि के साथ ही उनमें नेतृत्व के तमाम गुणों को विकसित करने का समावेश है। इसका एकमात्र उद्देश्य शिक्षकों, मुख्याध्यापकों, अधिकारियों में आपसी संवाद स्थापित करने के साथ ही शैक्षणिक गुणवत्ता का विकास करना है, जिसका प्रत्यक्ष लाभ मनपा के स्कूलों में पढ़ने वाले गरीब तथा मध्यमवर्गीय परिवारों के बच्चों को मिल सके, और वे शिक्षित हो देश तथा अपने परिवार के विकास की अहम कड़ी बन सकें। उन्होंने बताया कि यह प्रशिक्षण देश भर के करीब 42 लाख शिक्षकों को एक साथ दिया जा रहा है। के/पूर्व वार्ड मनपा शिक्षण विभाग के प्रशासकीय अधिकारी तौहीद शेख के नेतृत्व में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन मार्ग मनपा स्कूल में इन दिनों चल रहे निष्ठा प्रशिक्षण में सैकड़ों शिक्षक तथा मुख्याध्यापक सहभागी हो रहे हैं। मंगलवार को प्रशिक्षण सत्र में के/पश्चिम वार्ड के प्रशासकीय अधिकारी निसार खान, विभाग निरीक्षिका भाग्यश्री यादव, वैशाली संखे ने शिक्षकों का मार्गदर्शन किया। प्रशासकीय अधिकारी तौहीद शेख ने कहा कि मनपा स्कूलों में कार्यरत शिक्षक सर्वाधिक योग्य हैं, जो विद्यार्थियों की प्रतिभा तराशने में जी-जान से जुटे हैं, जिसका परिणाम है कि इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे हर क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने भरोसा जताया कि निष्ठा प्रशिक्षण शिक्षकों की गुणवत्ता बढ़ाने में निश्चित ही कारगर होगा, जिसका लाभ बच्चों को दर्जेदार शिक्षा उपलब्ध कराने में मददगार साबित होगा। उक्त प्रशिक्षण सत्र में विशेषज्ञ प्रशिक्षक शिलेश डोंगरे, बारकू वावरे, सुदाम कर्दे, रविंद्र विशे, भास्कर राजेंद्र शिक्षकों को प्रशिक्षित करने में सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button