LUCKNOWमनोरंजनसराहनीय कार्य

लखनऊ। 23 वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का हुआ शुभारम्भ सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय खेल राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने युवा महोत्सव का किया उदाघाटन,

लखनऊ। 23 वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का हुआ शुभारम्भ सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय खेल राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने युवा महोत्सव का किया उदाघाटन समूचे देश से हजारो युवा कर रहे हैं शिरकत।

सीएम योगी का बयान।

23वे राष्ट्रीय युवा उत्सव पर सभी का स्वागत अभिनंदन करता हूँ ,

भारत माता से महान सपूत स्वामी विवेकानंद जी की 157 वी जयंती पर कोटि कोटि नमन करता हूँ।

आज पूरा देश युवा सन्यासी के समाज मे किये गए कार्यों को युवा महोत्सव के रूप में मन कर याद कर रहा है

मुझे मेरी सरकार का तीसरा वर्ष में युवा मोहत्सव दूसरी बार करवाने का मौका मिल रहा इसके लिए मैं केरिन रिजिजू और उत्तर प्रदेश की जनता की तरफ से प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद करता हूँ

मित्रो हम सब जनते है कि ये मोहत्सव 5 दिनों तक उत्तर प्रदेश में आयोजित हो रहा

यह पूरे देश के युवा आये है

भारत के बारे में कहा जाता है कि ये अनेकता में एकता का देश है

यहां सब अलग का खान पान पहनवा सब अलग है

पर इन जैसे आयोजनों से ये अनेकता एकता में बदल जाती है

कुम्भ के आयोजन के पहले लोग मुझसे पूछते थे की कुम्भ में कितने लोग आएंगे

तो मैं बोलता था उत्तर प्रदेश की जनसंख्या से ज़्यादा आएंगे

कुम्भ में करीब 24 करोड़ 56 लाख से ज़्यादा लोग आए थे

प्रधानमंत्री जी ने स्वामी विवेकानंद जी के मंदिर कोलकाता में दर्शन किये और अपना संदेश वेलयोर मठ से दिया है

कोई मनुष्य अपने पूर्वजो पर महापुरुषों पर गौरव की अनिभूति ना कर पाए हम लज्जा करे तो समझ लीजिए अपना विनाश होना तय है

हमको उन महापुरुषों के मार्ग पर चल कर उनके आदर्शों पर निरंतर चलना है

देश 1947 मे आज़ाद हुए पर ये देश 1947 मे बना नही

कई लोगो ने बोला कि हम एक राष्ट्रीय बन्ने की ओर है

कुछ ये बोल रहे थे कि हम घटना से हिन्दू बन गए

लेकिन अगर आप देखेंगे कि हिमार वेद दुनिया का सबसे प्राचीन ग्रंथ माना गया है

भारत हमारी माता है हम सब इसके पुत्र है ये इन ग्रंथों में साफ लिखा है

राष्ट्रीय की उन्नति प्रत्येक नागरिक का फ़र्ज़ है

जो लोग भारत को नही जानते वो लोग भारत के बारे में गलत बात खड़यंत्र करके भारत को नक्सलवाद, उग्रवाद आतंकवाद में धकेलने का प्रयास करते है

विष्णु पुराण कहता है ढाई हजार वर्ष पहले हमारा पुराण बोलता है कि ये भूभाग देवताओं के द्वारा रची गयी है और वो भाग भारत है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button