Uncategorised

मुम्बई,सर्वांगीण गुणवत्ता सुधार के लिए लीडरशिप सर्वोत्कृष्ट – निंबाजी गीते

सर्वांगीण गुणवत्ता सुधार के लिए लीडरशिप सर्वोत्कृष्ट – निंबाजी गीते

रिपोर्ट-एसपी पाण्डेय

मुंबई: विद्यार्थियों के लिए उसका शिक्षक उसका रोल मॉडल होता है वह अपने आचार, विचार, दिखावे, आचरण में शिक्षक की नकल करता है। यही कारण है कि शिक्षक में लीडरशिप का गुण आवश्यक है । लीडरशिप के रूप में उसे अपनी कक्षा के सभी बच्चों को आगे बढ़ाने के लिए सदैव प्रयत्नशील रहना चाहिए। प्रादेशिक विद्या प्राधिकरण की उपसंचालक संघमित्रा त्रिभुवन के मार्गदर्शन में सांताक्रुज पूर्व मनपा शाला सभागृह में चल रहे निष्ठा प्रशिक्षण की पांचवी बैच के दूसरे दिन लीडरशिप पर बोलते हुए केंद्र प्रमुख निंबाजी गीते ने उपरोक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि लीडरशिप की तरह शिक्षकों को पारदर्शी तरीके से अपने बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए समर्पित प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्याध्यापकों के लिए भी यही बातें लागू होती है । एक आदर्श मुख्याध्यापक को लीडरशिप के तरीके से अपने स्टाफ को हमेशा अच्छे कामों के लिए प्रेरित करना चाहिए। वह शिक्षक सबसे ज्यादा श्रेष्ठ होता है जो यह कहता है कि मुझे यह काम नहीं आता फिर भी मैं करूंगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button