Uncategorised

लखनऊ,सेना में भर्ती कराने वाले गैंग का भंडाफोड़, आर्मी के दो जवानों सहित चार गिरफ्तार

सेना में भर्ती कराने वाले गैंग का भंडाफोड़, आर्मी के दो जवानों सहित चार गिरफ्तार

ओपी पाण्डेय
लखनऊ /प्रयागराज, एसटीएफ उत्तर प्रदेश ने फर्जी तरीके से सेना में भर्ती एवं मेडिकल में पास कराने वाले रैकेट को संचालित करने वाले सेना के दो जवानों सहित चार अभियुक्तों प्रदीप सिंह यादव पुत्र नारायण यादव निवासी महमूदपुर थाना नोनहरा गाजीपुर फायर इंजन ड्राइवर, सीओडी छिवकी, संजय कुमार पाण्डेय पुत्र त्रियुगी पाण्डेय निवासी ग्राम रामपुर बगहा टोला टकिया पोस्ट लक्ष्मीगंज रामकोला कुशीनगर (6 महार रेजिमेन्ट, कारू-लेह में नायक के पद पर तैनात है), मनीष सिंह यादव पुत्र स्व. राजाराम यादव, निवासी ग्राम रामपुर बगहा टोला टकिया पो. लक्ष्मीगंज, रामकोला कुशीनगर और त्रिपतीनाथ सरोज पुत्र प्यारे लाल सरोज निवासी मलसिल थाना सिकरारा जौनपुर को गिरफ्तार किया है। अभियुक्तों के कब्जे से 3 अलग-अलग अभ्यार्थियों के एडमिट कार्ड,अभ्यार्थियों के शैक्षिक अभिलेखों, एडमिट कार्ड, भर्ती से सम्बन्धित पैसों के लेन-देन के हिसाब से सम्बन्धित आदि 229 अदद व्हाट्सएप स्क्रीनशॉट, 8 मोबाइल फोन, नकद 2,75,000 रूपया बरामद हुआ है।
पुलिस महानिरीक्षक एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि, पिछले कई दिनों से भारतीय सेना में अवैध तरीके से भर्ती कराने वाले एवं मेडिकल परीक्षा में अनफिट अभ्यार्थियों से पैसे लेकर फिट कराने वाले रैकेट के सक्रिय होने की आसूचना प्राप्त हो रही थी। इस सम्बन्ध एसटीएफ की टीम को लगाया गया था। पकडे गए अभियुक्त मनीष ने बताया गया कि इस गिरोह का सरगना उसकी बुआ का लड़का मुलायम सिंह यादव उर्फ अजय यादव पुत्र राम अभिलाष यादव, निवासी ग्राम शाखा, थाना सैनी, जनपद कौशाम्बी इस समय जोधपुर राजस्थान में सेना में कार्यरत है। हम सभी लोग मिलकर हर भर्तियों में भर्ती करवाने के लिए अभ्यर्थियों की तलाश करते है और भर्ती करवाकर उनसे मोटी रकम वसूलते है। मेडिकल में पास कराने का रेट 60,000 रूपये प्रति अभ्यार्थी और पूरा भर्ती कराने का रेट 02 से 2.5 लाख रूपये लेते हैं। भर्ती होने के इच्छुक अभ्यर्थियों के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट आदि के सर्टिफिकेट्स प्लान के मुताबिक हम लोग अपने पास रख लेते है तथा अभ्यर्थियों से लिए गए उनके असली डाक्यूमेंटस को व्हाट्सअप्प के जरिए हम सभी लोग मुलायम सिंह यादव उर्फ अजय यादव उपरोक्त को भेजते हैं। अजय के सम्पर्क में लखनऊ में जेआरओ (जोनल रिक्रूटमेंट आफिस) में तैनात एक बाबू जी हैं, जो भर्ती से सम्बन्धित गोपनीय अभिलेख अजय यादव उर्फ मुलायम सिंह यादव को उपलब्ध कराते हैं। मनीष तथा प्रदीप सिंह यादव ने अभ्यर्थियों से भर्ती कराने के एवज में लिए गये पैसों को दो बार में 25 लाख रूपये मुलायम सिंह यादव उर्फ अजय यादव के कहने पर चारबाग स्टेशन पर उक्त बाबू जी को दिया था। चारों अभियुक्तों को थाना सिविल लाइन प्रयागराज में दाखिल किया गया है। अग्रिम कार्यवाही थाना सिविल लाइन्स पुलिस कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button