LUCKNOWUttar Pradesh

Lockdown Update: यूपी, एमपी और दिल्ली के ये हॉटस्पॉट पूरी तरह सील, जानें इनके बारे में

लखनऊ : लॉकडाउन के बावजूद कई इलाकों में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश और राजधानी दिल्ली की सरकारों ने अब सख्त कदम उठाया है। बुधवार को उत्तर प्रदेश सरकार ने 15 जिलों में चिन्हित हॉट स्पॉट को 14 अप्रैल तक के लिए और दिल्ली सरकार ने राजधानी के 21 हॉट स्पॉट को अगले आदेश तक के लिए सील कर दिया है।

दोनों ही राज्यों के इन इलाकों में कोई घर से बाहर तक नहीं निकल सकता है। इस दौरान यहां कर्फ्यू जैसा प्रतिबंध रहेगा। मध्य प्रदेश के तीन जिलों इंदौर, भोपाल और उज्जैन की सीमाएं भी सील कर दी गई हैं। कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन चल रहा है। तब्लीगी जमातियों की वजह से अचानक संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने से स्थिति खराब हो गई।

उप्र में छह से अधिक मरीज मिलने वाले इलाके हॉट स्पॉट

उत्तर प्रदेश के पंद्रह जिलों में उन क्षेत्रों को हॉट स्पॉट के रूप में चिह्नित किया गया है, जहां छह या उससे अधिक संक्रमित मरीज मिले हैं। उत्तर प्रदेश सरकार इस बात को लेकर समीक्षा कर रही है कि लॉकडाउन 15 अप्रैल को खोल दिया जाए या आगे बढ़ाया जाए।

14 के बाद फिर होगा फैसला

राज्य के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि अभी 14 अप्रैल तक यह व्यवस्था चलेगी। प्रतिदिन समीक्षा होती रहेगी।

जहां मिलेंगे अधिक मरीज, वहीं हॉट स्पॉट

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि राज्य स्तर पर यह आंकड़ा नहीं है कि प्रदेश में कुल कितने हॉट स्पॉट हैं? यह जिला प्रशासन को कोरोना के मरीजों की संख्या के आधार पर तय करना है। पंद्रह जिलों के अलावा किसी अन्य जिले में मरीजों की संख्या छह या उससे अधिक मिलती है तो इसी व्यवस्था के अनुसार संबंधित डीएम अपने जिले के हॉट स्पॉट चिन्हित कर सील की कार्यवाही अमल में लाएंगे। उन्होंने बताया कि पंद्रह जिलों में सील की व्यवस्था बुधवार रात 12 बजे के बाद से प्रभावी हो गई है।

जरूरी सेवाओं की आपूर्ति दिल्ली सरकार करेगी

कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दिल्ली सरकार ने भी राजधानी में 21 इलाकों को हॉट स्पॉट घोषित कर दिया है। इन इलाकों को अगले आदेश तक सील कर दिया गया है। यहां के लोगों को कॉलोनी से बाहर निकलने तक पर पाबंदी लगा दी गई है। इन कॉलोनियों में सभी जरूरी सेवाओं की आपूर्ति दिल्ली सरकार करेगी। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के जिन 21 इलाकों में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, उन्हें हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित किया गया है। न कोई यहां आ सकता है और न ही कोई जा सकता है।
इंदौर, भोपाल एवं उज्जैन को पूरा सील करें : शिवराज

मप्र में भी इंदौर, भोपाल और उज्जैन को पूरी तरह सील करने के निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उन जिलों में भी पूरी तरह लॉकडाउन किया जाए, जहां संक्रमित व्यक्ति मिले हैं। जिला प्रशासन ही आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित कराए। उन्होंने ये निर्देश बुधवार को मंत्रालय में कोरोना वायरस की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा के दौरान दिए।

क्या होता है पूर्ण लॉकडाउन?

सीलिंग यानी पूर्ण लॉकडाउन वाले इलाकों में लॉकडाउन की तुलना में ज्यादा सख्ती बरती जाएगी। पूर्ण लॉकडाउन को लेकर अलग- अलग राज्यों में अलग- अलग व्यवस्थाएं हो सकती हैं। इसका निर्धारण स्थानीय आवश्यकताओं को देखते हुए किया जा सकता है। इसका आशय मूल रूप से लॉकडाउन के सख्ती के साथ अनुपालन से है। अब इमरजेंसी के अतिरिक्त किसी हाल में घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। निजी वाहन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। प्रावधानों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। इस दौरान निम्नलिखित प्रावधान प्रभावी रहेंगे –

– केवल आवश्यक सेवा से जुड़े लोगों को ड्यूटी जाने की अनुमति

– खाद्यान्न, दूध, सब्जी आदि की डोर स्टेप डिलीवरी कराई जाएगी

– कोई यदि बीमार होता है तो प्रशासन ही एंबुलेंस उपलब्ध कराएगा

– आवागमन के लिए जारी किए गए सभी पास निरस्त माने जाएंगे

– 112 सेवा वाहनों की विशेष ड्यूटी और लगातार पुलिस पैट्रोलिंग

– मजिस्ट्रेट तैनात रहेंगे और हर चौराहे पर पुलिस पिकेट होगी

– जरूरत पड़ने पर ड्रोन कैमरे से निगरानी कराई जाएगी

– क्षेत्र के प्रत्येक घर की सूची बनाकर सघन जांच की जाएगी

– एक-एक घर सहित पूरे क्षेत्र को सैनिटाइज कराया जाएगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button