Lakhimpurkhiri

आबादी से निकल कर जंगल की ओर भागा तेंदुआ

 

तालाब की झाड़ियों से निकल कर आधी रात में ही कतर्नियाघाट के जंगल की ओर भागा तेंदुआ

तेंदुए के जंगल भागने की ख़बर से ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

चमन सिंह राणा/एस.पी.तिवारी

बिछिया-बहराइच।कोतवाली मुर्तिहा क्षेत्र अंतर्गत लखीमपुर खीरी जिले की रेंज धौरहरा कतर्नियाघाट के जंगल से सटा हुआ है जहां गुरुवार को सुबह तकरीबन सात बजे जंगल मटेरा अंतर्गत प्रतापपुर ग्राम पंचायत के मजरा दुर्गा गौड़ी व पटहा गाँव मे कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग के जंगल से निकलकर कर एक तेंदुए ने एक एस आई एक वनरक्षक समेत छह ग्रामीणों को गंभीर रूप से घायल कर दिया था।पूरे दिन वन विभाग व पुलिस की टीम घटनास्थल पर मौजूद रही।तेंदुए द्वारा छुपकर बैठे हुए स्थान पर खाबड़ व जाल लगाया गया साथ ही उसे पकड़ने के लिए पिंजरा भी लगाया गया।देर शाम तेंदुआ रेकी की गई स्थान पर दुबक कर बैठा रहा।पूरी रात सुजौली व धौरहरा वन विभाग की टीम तैनात रही इसी बीच आधी रात को ही तेंदुआ कतर्नियाघाट के जंगल की ओर भाग गया।
धौरहरा रेंज के वन क्षेत्राधिकारी अनिल साह ने बताया कि रात लगभग 12:30 बजे तेंदुआ घटनास्थल से भाग गया था उसके बाद शुक्रवार की सबह वन विभाग की टीम ने पूरे एरिया को खंगाला तेंदुए का कोई आता पता नही था रेंजर ने बताया कि जहां पर पिंजरा लगाया गया था वहां से तेंदुए दहाड़ते हुए जंगल की तरह भाग गया था।

तेंदुए ने बछड़े को बनाया निवाला

कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग में तेंदुओं का आतंक जारी है।थाना सुजौली क्षेत्र के निशानगाड़ा रेंज अंतर्गत मटेही गांव निवासी पारसनाथ पांडे पुत्र खरपत पांडे के घर गुरुवार की देर रात तेंदुए ने छलांग लगा दी और मवेशियों के अहाते में बंधे बछड़े पर हमला कर दिया।मवेशियों की हरकत सुनकर परिवार के लोग दौड़े तब-तक तेंदुआ बछड़े को मार चुका था।परिवारीजनों ने ग्रामीणों की मदद से हाका लगाते हुए तेंदुए को जंगल की ओर खदेड़ा । ग्रामीणों ने सूचना रेंज कार्यालय पर दी।मौके पर पहुचे वन क्षेत्राधिकारी दयाशंकर सिंह और वन दरोगा कबीरुल हसन ने घटना की पुष्टि की और गांव के लोगों को सजक रहने को कहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button