Gorakhpurएडमिनिस्ट्रेसशनब्रेकिंग न्यूज़सराहनीय कार्य

गोरखपुर अपराधी ऋषि यादव हुआ गिरफ्तार,

गोरखपुर अपराधी ऋषि यादव हुआ गिरफ्तार,

गिरफ्तार अभियुक्त ने बिल्डिंग कंट्रक्शन के ठेकेदार से माॅगी थी 50 लाख रूपये की रंगदारी

गोरखपुर (विनय तिवारी)।जनपद में अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियन्त्रण हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद गोरखपुर के द्वारा, उक्त घटना को गम्भीरता से लेते हुये घटना में शामिल अभियुक्त की गिरफ्तारी/बरामदगी हेतु टीम बनाकर लगाया गया था। इसी क्रम में स्वाॅट/सर्विलांस प्रभारी क्राईम ब्रान्च तथा थाना गोरखनाथ की टीम को घटना मे शामिल अभियुक्त की गिरफ्तारी एवं बरामदगी हेतु लगाया गया था। उक्त टीमो द्वारा घटना में शामिल अभियुक्त की गिरफ्तारी के सम्बन्ध में लगातार प्रयास किया जा रहा था तथा मुखबिर भी मामूर किये गये थे। तभी प्रभारी स्वाॅट/सर्विलांस को जरिये मुखबिर सूचना मिला कि बिल्डिंग कंट्रक्शन ठेकेदार से 50 लाख रूपये की रंगदारी माॅगने वाला व्यक्ति अभी कुछ देर मे रेलवे बस स्टैण्ड पर आने वाला है, के सूचना पर विश्वास कर हम सभी लोग मुखबिर को साथ लेकर मय टीम के साथ रेलवे बस स्टैण्ड तिराहे पर पहुॅचकर अपने आपको छुपाते हुए वहा चारो तरफ फैलकर आने वाले व्यक्ति का इंतजार करने लगे तभी कुछ देर बाद तिराहे के पास दक्षिणी छोर पर एक लड़का दिखायी दिया जिसे देखते ही मुखबिर द्वारा इशारा कर बताया गया कि वही है। इतना बताकर मुखबिर वहा से अपनी पहचान छुपाने हेतु कही हट-बढ़ गय। जिसके तुरन्त बाद एका-एक दबिश देकर चारो तरफ से घेरकर उस लड़के को पकड़ कर नाम-पता पुछते हुए जामा तलाशी ली गई। तो उसने अपना ऋषि यादव पुत्र रामबचन यादव नि0 जिगना थाना धनघटा जनपद संतकबीरनगर बताया जामा तलाशी के दौरान उसके कमर के दाहिने तरफ से एक अदद तंमचा अवैध 315 बोर व पैंट की जेब से 2 जिन्दा कारतूस 315 बोर बरामद हुआ।

ठेकेदार से 50 लाख की रंगदारी माॅगने के सम्बन्ध मे जब कड़ाई से पूछताछ किया तो अभियुक्त द्वारा बताया गया कि ग्रीन सिटी के पास स्थित हरिजन बस्ती का रहने वाला रवि नामक लड़का जो मेरा मित्र है उसी ने ठेकेदार शेख जमाल अली का नम्बर दिया था तथा यह भी बताया था कि इसके पास बहुत पैसा है अगर फोन से धमकी देकर फिरौती माॅगा जाये तो काफी अच्छा-खासा पैसा हमलोग ले सकते है। रवि को उस ठेकेदार के बारे मे उसे अच्छी-खासी जानकारी थी। किन्तु फिरौती का पैसा नही मिला व ठेकेदार द्वारा थाना गोरखनाथ पर मुकदमा भी कायम करा दिया गया। जिसकी जानकारी होते ही तभी से मै पुलिस के डर से इधर-उधर छिप कर रहा था तथा आज मै बस पकड़कर बाहर जाने के फिराक मे था कि आपलोगो द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। अभियुक्त की गिरफ्तारी एवं बरामदगी का विवरण निम्नवत् है।

जिसमे उपनिरीक्षक धीरेन्द्र राय, प्रभारी सर्विलांस सेल, क्राईम ब्रान्च, उ0नि0 चन्द्र भान सिहं ,प्रभारी एसओजी, क्राईम ब्रान्च उ0नि0 शैलेन्द्र कुमार ,थाना गोरखनाथ हे0 का0 शशिकान्त राय स्वाट टीम,गोरख सिहं, विक्रम सिहं सहित गोरखनाथ टीम शामिल रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button