Uttar Pradesh

विकास दुबे सरेंडर कर दो.., एफएसएल टीम ने दोहराया एनकाउंटर सीन

सचेंडी/कानपुर(जितेंद्र श्रीवास्तव)।उज्जैन में गिरफ्तारी के बाद कानपुर लाते समय मोस्टवांटेड विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर जांच कर रही एफएसए टीम ने शनिवार की सुबह एसटीएफ को लेकर घटनास्थल पर एनकाउंटर का सीन रिपीट कराया। सचेंडी हाईवे किनारे एनकांउटर सीन दोहराए जाने पर एसटीएफ टीम भी उस दिन की तरह चिल्ला कर बोली-विकास दुबे सरेंडर कर दो..। अब टीम अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपेगी।

चौबेपुर के बिकरू गांव में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमले में सीओ समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए थे। घटना में शामिल रहे हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके गिरोह के साथियों की तलाश पुलिस कर रही थी। पुलिस ने 25 हजार से बढ़ाते हुए पांच लाख का इनाम विकास दुबे पर घोषित किया था। उज्जैन में विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद यूपी पुलिस उसे लेकर कानपुर आ रही थी। कानपुर में एसटीएफ की गाड़ी पलट गई थी। एसटीएफ और पुलिस की मुठभेड़ में हादसे के बाद भागने का प्रयास कर रहे विकास दुबे मारा गया था। एनकाउंटर की जांच के लिए शनिवार को लखनऊ से विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम कानपुर पहुंची। पुलिस ने सचेंडी के किसान नगर में तेज बारिश के बीच अचानक मवेशियों के झुंड आने से गाड़ी पलटने की बात कही।

शनिवार की दोपहर 12:05 बजे एसटीएफ के साथ एफएसएल की टीम जिस जगह गाड़ी पलटी थी वहां पहुंची और 12 सांकेतिक झंडी लगा दी गई। इसके बाद एक सिपाही को गाड़ी पलटने वाली जगह में बिठाया। इसी दौरान पीछे से आई एक गाड़ी से एसटीएफ के जवान उतरकर सिपाही से घटना की जानकारी लेने के बाद घटनास्थल से 50 मीटर दूरी पर खड़े विकास दुबे के प्रतीकात्मक व्यक्ति से सरेंडर करने को बोलते हैं।

इसके बाद एसटीएफ के जवानों की टुकड़ी विकास को घेर लेती है और खुद को बचाने के लिए विकास फायर करता है। इसी दौरान एसटीएफ के जवानों की गोली सीने में लगने से विकास ढेर हो जाता है। एनकाउंटर का सीन खत्म होने के बाद एफएसएल टीम के डॉ. एके श्रीवास्तव ने बताया कि एफआईआर का अध्ययन के आधार पर एनकाउंटर सीन को दोहराकर जांच की गई है। उन्होंने बताया कि जिन हाथियारों से फायर हुए हैं, उसकी जांच करने के बाद पूरी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button