Auraiya

जिंदा गौवंशो को कुत्ते व चील कौए नोच कर बना रहे अपना भोजन

सहायल/औरैया।उत्तर प्रदेश के सीएम योगी भले ही गाय प्रेम में जी भरकर बजट लूटा रहे हों, लेकिन सरकार के नौकरशाह गाय को चारा और पानी तक उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं। सहार ब्लॉक के सौथरा की गौशाला में लापरवाही के चलते गौवंश भूख और प्यास से तड़प-तड़प कर दम तोड़ रही है। बेजुबान म्रत गायों को गौशाला में नोच-नोच चील कौवे और कुत्ते खा रहे हैं। गौशाला की इस बदतर हालात पर सरकारी कारिंदे मौन हैं। वही सौथरा की गौशाला में आज 3 म्रत गौवंश खुले गड्ढे में सड़ते मिले है। व गौशाला के मैदान में एक जिंदा गौवंश को कुत्तो ने मार कर अपना शिकार बना डाला। जिसका जबड़ा पूरी तरीके से अलग हो गया। ग्रामीण गौशाला की एक-एककर सच बता रहे हैं। बता रहें हैं कि एक माह में बीस से अधिक गायों की मौत गौशाला में हो गयी है। गौवंशो को खुले गड्डों में प्रधान पति द्वारा सड़ने के लिये भेज दिया जाता । मगर यह गौवंशो की हालत देखकर किसी भी पशु प्रेमी का दिल दहल उठेगा। यहां प्रशासन व प्रधान पति पंकज कठेरिया की लापरवाही के चलते भूख और प्यास से तड़प- तड़पकर बेजुबान गाय दम तोड़ रही है। लापरवाही की हद तो तब पार हो रही है, जब गाय को चील कौवे और कुत्ते नोच-नोच कर खा रहे हैं। लेकिन किसी भी अधिकारी व पंचायत प्रधान पति का अभी इस ओर कोई ध्यान नहीं है। व म्रत गौवंशो को प्रधान बिना पोस्ट मॉर्डम कराये गड़वा देता है। गौशाला में भूख प्यास से परेशान बेजुबान गोवंश तड़प-तड़पकर मौत को गले लगा रहे हैं। गौशाला में भूख प्यास से तड़प-तड़पकर मौत को गले लगा रही इन बेजुबान गायो को देखकर शैतान का भी कलेजा कांप जाएगा लेकिन गौशाला का ठेका लेने वाले व सचिव का कलेजा नहीं कांप रहा।गौशाला में बेजुबान गायों के मरने का सिलसिला जारी है। ग्रामीणों ने बताया कि हां पर भूख प्यास से यह गाय मर रही हैं, क्योंकि इनको चारे की कोई व्यवस्था नहीं है। भीषण गर्मी में गौवंश खुले में रहते हैं। लोगों का आरोप है कि प्रशासन सुन नहीं रहा है। जिसकी वजह से लगातार गाय की मौत यहां पर हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button