Connect with us

LUCKNOW

अब तो GST से ही कम हो सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें

Published

on

प्रधान ने कहा कि इस सिलसिले में वित्त मंत्री राज्य सरकारों से बात भी कर चुके हैं। अगर जीएसटी के अतंगर्त इसे लाया जाता है तो कीमतों का पूर्वानुमान किया जाना संभव है। उन्होंने कहा कि हमने जीएसटी काउंसिल से मांग की है कि पेट्रोलियम को भी जीएसटी के तहत लाया जाए, जिसे आम लोगों को राहत मिल सके।

प्रधान ने तेल के दामों में रोजाना संशोधन के नियम में बदलाव से इनकार किया है। जुलाई से डीजल की कीमत प्रति लीटर 7.3 रुपये बढ़ चुकी है लेकिन प्रधान का कहना है कि रोजाना दाम संशोधित करने का नियम चलता रहेगा। तीन जुलाई से तेल कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हुई है लेकिन उपभोक्ताओं को इसके असर से बचाने के लिए उन्होंने इस पर लगने वाले टैक्स में कमी करने का कोई वादा नहीं किया।

तेल मूल्यों में बढ़ोतरी के सवाल पर उन्होंने कहा कि 16 जून को हर दिन दाम संशोधित करने का नियम लागू होने के बाद एक पखवाड़े से ज्यादा समय तक दाम घटे रहे। लेकिन उस दौरान किसी ने इसके बारे में नहीं कहा। लेकिन अब जब दाम बढ़ रहे हैं तो इसे उछाला जा रहा है।

अगर देश के चार महानगरों की तुलना करें तो 12 सितंबर को दिल्ली में पेट्रोल का दाम 70.38 रुपये प्रति लीटर है जो कि सबसे सस्ता है। वहीं कोलकाता में 73.12 रुपये, मुंबई में 79.48 रुपये और चेन्नई में 72.95 रुपये प्रति लीटर है।

डीजल भी दिल्ली में सबसे सस्ता है जिसका प्राइस 58.72 रुपये प्रति लीटर है। वहीं मुंबई में यह 61.37 रुपये, कोलकाता में 62.37 रुपये और चेन्नई में यह 61.84 रुपये प्रति लीटर है। इस महीने में अब तक पेट्रोल के दामों में 1.53 – 1.80 फीसदी की बढ़ोतरी हो चुकी है। वहीं डीजल के दामों में यह बढ़ोतरी 2.78-2.96 फीसदी तक हो गई है।

महाराष्ट्र के जलगांव में आज पेट्रोल का दाम 79.34 रुपये प्रति लीटर है। वहीं डीजल 62.07 रुपये प्रति लीटर है। इसी तरह मध्य प्रदेश के दो बड़े शहरों भोपाल और इंदौर की बात करें तो यहां पर पेट्रोल के दाम 75 रुपये के पार चले गए हैं। इंदौर में पेट्रोल 76.53 रुपये प्रति लीटर और डीजल 64.92 रुपये प्रति लीटर हैं।

प्रदेश की राजधानी भोपाल में पेट्रोल 76.77 रुपये प्रति लीटर है तो डीजल 65.17 रुपये प्रति लीटर है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!