Connect with us

LUCKNOW

अखिलेश राज में शुरू हुई एक और योजना पर संकट, रेलवे ने बजट न मिलने से किया स्‍थगित

Published

on

भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने अक्तूबर, नवंबर व दिसंबर की श्रवण यात्राएं स्थगित कर दी हैं। धर्मार्थ कार्य विभाग से बजट नहीं मिलने के कारण निगम ने यह फैसला किया है।

बता दें कि धर्मार्थ कार्य विभाग की ओर से प्रदेश के बुजुर्ग तीर्थयात्रियों को श्रवण यात्राएं कराई जाती हैं, जिसमें आईआरसीटीसी सर्विस प्रदाता के तौर पर काम करता है। इसके तहत बुजुर्गों के लिए निशुल्क ट्रेनें चलाई जाती हैं, जो उन्हें तीर्थस्थलों की यात्राएं कराती हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कार्यकाल में समाजवादी श्रवण यात्रा के नाम से योजना शुरू हुई थी। जब भाजपा सरकार आई तो नाम बदलकर मुख्यमंत्री श्रवण यात्रा कर दिया गया।

आईआरसीटीसी के अधिकारियों ने बताया कि श्रवण यात्रा की योजना तैयार हो चुकी थी। धर्मार्थ कार्य विभाग प्रति यात्रा एक करोड़ रुपये का भुगतान करता है। कुल 14 करोड़ रुपये का आवंटन हुआ था, लेकिन भुगतान नहीं हुआ। इस कारण अक्तूबर, नवंबर व दिसंबर में होने वाली यात्राएं स्थगित कर दी गई हैं। ये यात्राएं अब अगले साल होने की उम्मीद है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!