Connect with us

LUCKNOW

योगी, मौर्या समेत 5 नेता भरेंगे MLC चुनाव के लिए नामांकन

Published

on

पिछले दिनों सूबे के पांच MLC ने अपने पदों से इस्तीफा देकर बीजेपी का दामन थामा है. इनमें चार एसपी और एक बीएसपी MLC थे. एसपी के यशवंत सिंह, अशोक वाजपेयी, सरोजिनी अग्रवाल और बुक्कल नवाब तो वहीं बीएसपी के जयवीर सिंह ने भी इस्तीफा दिया था. लेकिन चुनाव आयोग ने पांच सीटों के बजाए चार सीटों पर चुनाव कराने का फैसला किया था. जयवीर सिंह के कार्यकाल का एक साल से कम का समय बचे होने मना कर दिया था. लेकिन बाद में चुनाव आयोग ने दोबारा से अधिसूचना जारी करके रिक्त हुई जयवीर सिंह की सीट पर चुनाव कराने फैसला किया है. इससे बीजेपी के सभी सदस्यों की राह आसान हो गई है.

दरअसल चुनाव आयोग पांच MLC सीटों में से चार सीटों पर मध्यावधि चुनाव कराने के फैसला नहीं बदलता तो ऐसे में योगी सरकार के किसी एक मंत्री कुर्सी जानी तय माना जा रहा था. इसमें कहा जा रहा था कि मोहसिन रजा की कुर्सी ज्यादा खतरे में थी.

योगी आदित्यनाथ तो मुख्यमंत्री हैं, तो ऐसे में उनका MLC बनना तय था. इसके अलावा केशव मौर्य और दिनेश शर्मा डिप्टी सीएम हैं. दिनेश शर्मा अमित शाह और मोदी के करीबी और भरोसेमंद माने जाते हैं. ऐसे में उन्हें भी किसी तरह का कोई खतरा नहीं था. पिछले दिनों लखनऊ दौरे पर आए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि केशव जी को यूपी में मजबूती से राजनीति करनी है. ऐसे में केशव मौर्य भी सेफ जोन में थे.

इसके बाद सिर्फ दो नाम बचते हैं, स्वतंत्रदेव सिंह और योगी सरकार में एकलौते मुस्लिम चेहरा मोहसिन रजा. इनमें से किसी एक को मंत्री पद त्यागना पड़ता. स्वतंत्र देव सिंह RSS के बैकग्राउंड और पार्टी संगठन से आते हैं. इतना ही नहीं यूपी में नरेंद्र मोदी की जो भी रैली होती हैं, उनकी देखभाल की जिम्मेदारी स्वतंत्र देव ही उठाते रहे हैं. ऐसे में उन्हें भी किसी तरह का कोई खतरा नहीं था.

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!