Connect with us

LOCAL NEWS

एंबुलेंस न मिली तो रिक्‍शा पर लाए गर्भवती महिला को, मृत बच्चे को दिया जन्म

Published

on

यूपी सरकार भले गर्भवती महिलाओं के लिए एंबुलेंस और इलाज देने का दावा कर रही हो, लेकिन सच इससे बहुत दूर नजर आता है। राजधानी में मंगलवार को प्रसव पीड़ा से तड़प रहीं दो महिलाओं को बिना इलाज लौटा दिया गया। जानकारी के मुताबिक, प्रसव पीड़ा से तड़प रही इटौंजा के इंदारा निवासी युवक दक्षराज की पत्नी कामिनी को अस्पताल ले जाने को पहले से एंबुलेंस नहीं मिल सकी, लेकिन घर वाले जब उसे बाइक और ट्रॉली रिक्‍शा के सहारे बीकेटी के साढ़ामऊ अस्पताल लेकर पहुंचे तो वहां सुविधाएं न होने का हवाला देकर बिना इलाज लौटा दिया गया।
युवक बाइक से गर्भवती को लेकर 12 बजे साढ़ामऊ अस्पताल पहुंचा। यहां करीब एक घंटे तक अस्पताल में महिला को रखा गया। इसके बाद अस्पताल के डॉक्टरों व कर्मचारियों ने महिला की स्थिति बिगड़ने पर युवक को अस्पताल में ऑपरेशन व अन्य सुविधाओं के अभाव का हवाला देते हुए कहीं अन्य अस्पताल में ले जाने की सलाह दी।

परेशान युवक बाइक से ही पत्नी को लेकर इंदौराबाग में स्थित एक रिश्तेदार के घर गया और वहां से रिश्तेदारों संग ठेलिया से पत्नी को लेकर बीकेटी कस्बे में भोलापुरवा में स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। वहां महिला ने मृत शिशु को जन्म दिया। एंबुलेंस को नहीं लगा फोन : जब मंगलवार सुबह 11 बजे प्रसव पीड़ा शुरू हुई। दक्षराज ने कई बार 102 और 108 एबुलेंस सेवा को फ ोन मिलाया, लेकिन नेटवर्क की समस्या के चलते फोन नहीं मिला।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!