Connect with us

गाजीपुर

Ghazipur में शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाली दो शातिर महिलाएं चढ़ीं पुलिस के हत्थे

Published

on

गाजीपुर,

थाना क्षेत्र के स्थानीय बाजार स्थित शादियाबाद मोड़ से रविवार को पुलिस टीम ने शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाले गिरोह की दो महिलाओं को धर दबोचा। साथ ही अन्य सदस्यों की धरपकड़ के लिए पुलिस दोनों महिला आरोपितों से पूछताछ करने में जुटी हुई है।

आगरा जनपद के ताजनगरी निवासी मीना गुप्ता ने तहरीर में बताया कि स्थानीय थाना के सेमरा गांव निवासी नंदू राम व गिरोह के अन्य सदस्यों ने मिलकर बीते 10 मई को उसके भाई रामू गुप्ता की शादी कराने के एवज में 40 हजार नगदी व 30 हजार का गहना ऐंठ लिया। बरहपुर गांव स्थित शिव मंदिर पर शादी के बाद जब दुल्हा रामू गुप्ता दुल्हन रीता को आगरा लेकर जाने लगा तो वह एक अन्य महिला बिंदू यादव के साथ हंगामा करते हुए मौके से फरार हो गई। पुलिस मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश में जुटी हुई थी। पीडि़ता मीना गुप्ता की सूचना पर फरार हुई दुल्हन सहित दो को शादियाबाद मोड़ से धर दबोचा।

जबकि सरगना नंदू राम, चिलार के राणा प्रताप, सराय शरीफ सुरेंद्र उर्फ दाढ़ी व दुल्लहपुर निवासी एक अज्ञात युवती की तलाश की जा रही है। थानाध्यक्ष कण्व कुमार मिश्र ने बताया कि पकड़ी गई दोनों महिला रीता व बिंदू यादव शादी का झांसा देकर गैर जनपदों से आए लोगों से रुपये ऐंठकर फरार हो जाती थी। गिरोह का सरगना व अन्य फरार हैं, पूछताछ चल रही है। जल्द ही उनकी गिरफ्तार कर ली जाएगी। पुलिस अधीक्षक डा. अरङ्क्षवद चतुर्वेदी ने इस सफलता पर पुलिस टीम को पांच हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की है।

दुल्हन रीता एक बच्चे की है मां : पुलिस ने बताया कि दुल्हन बनकर पैसा ऐंठने की घटना को अंजाम देने वाली रीता का विवाह कासिमाबाद थाने के मरखापुर गांव में हुई है। आरोपित महिला एक बच्चे की मां भी है। वह अपने पति से न्यायालय में मुकदमा भी लड़ रही है। उसके साथ पकड़ी गई बिंदु यादव सदर कोतवाली के आदर्श बाजार कांशीराम कालोनी की रहने वाली है। यह कभी दुल्हन की चाची, भाभी तो मौसी बनती है और शादी के बाद दुल्हन बनी रीता के साथ हंगामा करके फरार हो जाती है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!