Connect with us

Uncategorised

Ind vs Eng: भारत की बल्लेबाज़ी से नहीं, तेज़ गेंदबाज़ों से डर रही है इंग्लैंड की टीम, ये है वजह

Published

on

बर्मिघम, पीटीआइ। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक को लगता है कि मौजूदा भारतीय टीम के तेज गेंदबाजी में विविधता और गहराई है जो कि इंग्लैंड का दौरा करने वाली पिछली टीमों में कभी दिखाई नहीं दी। कुक ने कहा कि भारतीय गेंदबाजी विभाग में अच्छी विविधता वाले गेंदबाज हैं, खासतौर से तेज गेंदबाजी में जो कि आमतौर पर दिखाई नहीं देता है। उन्होंने अपनी तेज गेंदबाजी की गहराई को मजबूत किया है।

भारतीय गेंदबाज़ी में है विविधता- कुक

पिछले 10 वर्षो में जब से मैं भारत के खिलाफ खेल रहा हूं तब से कभी भी उनके पास पांच या छह अलग तरह के तेज गेंदबाज नहीं थे। यह वह अंतर है जिसे मैंने महसूस किया है लेकिन हम अगले छह हफ्तों में इसे देख लेंगे। इंग्लैंड के दौरे पर गई भारतीय टीम का शीर्ष क्रम चिंता का विषय बना हुआ है, लेकिन कुक ने शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा का बचाव किया और कहा है कि वे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। कुक ने कहा कि बहुत अच्छे खिलाड़ियों के साथ फॉर्म मायने नहीं रखता। वे इसलिए अच्छे खिलाड़ी हैं क्योंकि उन्होंने एक निरंतर समय पर रन बनाए हैं। यही वजह है कि भारत दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम है। आप कुछेक मैचों में रन नहीं बना पाते हैं और अचानक आप लय और टाइमिंग हासिल कर लेते हैं और एक बड़ा स्कोर खड़ा करते हैं।

कुक भी हैं फॉर्म में

33 वर्षीय कुक पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद इंग्लैंड की टेस्ट टीम में लौट रहे हैं और भारत के खिलाफ मुकाबले के लिए तैयार हैं। एजबेस्टन में 2011 में 294 रनों की पारी खेलने वाले कुक ने कहा कि मैं तरोताजा महसूस कर रहा हूं। मैं पिछले साढ़े तीन हफ्तों में ज्यादा क्रिकेट नहीं खेल पाया हूं। पिछले हफ्ते रन बनाना (भारत-ए के खिलाफ 180 रन) काफी अच्छा रहा। मैंने अच्छी बल्लेबाजी की और मैं खुद को तैयार महसूस कर रहा हूं। कुक ने कहा कि मैंने बतौर कप्तान अपने समय का भरपूर आनंद लिया। यह एक बेहद चुनौतीपूर्ण काम है। यह कठिन काम है।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!