Connect with us

Sultanpur

तीस साल तक कायम रही नवाब की “बादशाहियत”

Published

on

कांग्रेस पार्टी के तीन दशक से नगर पंचायत कोइरीपुर के रहे अध्यक्ष
निष्ठा ईमानदारी पर बनाए गए जिला सचिव

सुल्तानपुर(विनोद पाठक)। तीन दशक के भीतर कांग्रेस पार्टी में कई अध्यक्ष बने और बिगड़े,लेकिन कोइरीपुर में अतहर नवाब की “बादशाहियत” कांग्रेस पार्टी में कायम रही। नवाब की “नवाबी” में कोई भी जिला अध्यक्ष “दाग” नहीं बना लगा पाया। अर्थात कोइरीपुर टाउन एरिया में करीब तीस साल तक अतहर नवाब निर्विवाद कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष बने रहे।उनकी ईमानदारी और निष्ठा पर जिला अध्यक्ष अभिषेक सिंह राणा ने उनका कद बढ़ा दिया है। अब अतहर नवाब पार्टी में जिला सचिव का पद दिया गया है।
गौरतलब हो कि कांग्रेस पार्टी में कोइरीपुर नगर पंचायत निवासी अतहर नवाब 1989 में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। एक साल बाद ही तत्कालीन जिला अध्यक्ष ने इन्हें नगर पंचायत कोइरीपुर कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष मनोनीत कर दिया। तब से लेकर अब तक करीब आधा दर्जन के ऊपर जिला अध्यक्ष बने और बिगड़े, लेकिन अतहर नवाब की “बादशाहियत” पार्टी में टाउन एरिया में कायम रही। जो भी पार्टी का अध्यक्ष नया बनाया गया, इन्हीं पर दांव लगाया,भरोसा जताया और इनकी टाउन एरिया कोइरीपुर कांग्रेस अध्यक्ष की कुर्सी बरकरार रही। मसलन, हर जिला अध्यक्ष ने इनके कामों पर मुहर लगाई। इसी दौरान इनकी पत्नी 2012 में और अतहर नवाब 2017 में कांग्रेस पार्टी के सिंबल पर नगर पंचायत कोइरीपुर में अध्यक्ष पद के उम्मीदवार के रूप में किस्मत आजमाई। लेकिन भाग्य ने साथ नहीं दिया, फिर भी प्रदर्शन अच्छा रहा। पार्टी के कार्यक्रमों में अतहर नवा बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते रहे, पार्टी समेत जनता में सुर्खियों में बने रहे। इनकी निष्ठा और ईमानदारी को देखते हुए जिला अध्यक्ष अभिषेक सिंह राणा ने इनके कद को बढ़ाने के लिए कदम आगे बढ़ाया। नगर पंचायत से निकालकर पार्टी की मुख्यधारा से जोड़ने का काम किया। अर्थात जिला कमेटी में इन्हें जिला सचिव पद से नवाजा गया है। तब से लगातार अतहर नवाब पार्टी के हर कार्यक्रमों में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। अतहर नवाब वकायदे बयां करते हैं कि उनका एक ही मिशन है कि पार्टी को मजबूत किया जाए। पार्टी मजबूत होगी तो जिले में प्रदर्शन बेहतर करेगी। साथ ही 2022 का सपना भी कांग्रेस पार्टी का सफल होगा। इसलिए अपने अस्तर से अतहर नवाब कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। इनकी मेहनत की चर्चा कांग्रेस के नेता भी कर रहे हैं।

Continue Reading
Advertisement
Comments
error: Content is protected !!