Ambedkarnagar

खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी वाली रानी थी… की तर्ज पर कोरोना फाइटर्स बने – धर्मवीर सिंह बग्गा

ब्यूरो ऐ. के. चतुर्वेदी

अंबेडकरनगर
वैश्विक महामारी का रूप धारण कर चुकी कोरोना को मात देने में एक तरफ जहां पूरा सरकारी अमला जुटा हुआ है।वही
जिले में समाज सेवा का बीड़ा उठा चुके एक ऐसे ही समाजसेवी ने अपनी टीम के साथियों के साथ लोगों की सेवा करने में जुटे हैं। ‘सेवा ही धर्म:’ नाम की संस्था चलाने वाले टांडा कस्बे के धर्मवीर सिंह बग्गा इस लड़ाई में धर्मयोद्धा की भूमिका में दिन-रात सेवा में जुटे हैं।
धर्मवीर सिंह बग्गा की पहचान अब तक गरीब कन्याओं की शादी, भोजन बैंक के जरिये गरीबों को भोजन तथा कपड़ा बैंक से असहायों को वस्त्र मुहैया कराने तक सीमित थी, लेकिन अब उन्होंने कोरोना से जंग में जिस प्रकार की भागीदारी दिखाई है वह चर्चा का विषय बन चुकी है।
धर्मवीर सिंह बग्गा की जनसेवा का एक प्रमाण यह भी है कि क्षेत्र की राजनीतिक पार्टियां चाहे बीजेपी हो या कांग्रेस या अन्य दल उन्हें संगठन में पद देने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। यह दीगर बात है कि धर्मवीर सिंह बग्गा किसी भी पार्टी में पद से पहले वो जनसेवा को ज्यादा तवज्जो देते हैं।
महामारी के दौरान देश में कोरोना वायरस की आहट मिलने के बाद धर्मवीर सिंह बग्गा ने अपनी टीम के सदस्यों के साथ 23 मार्च से ही अपने अभियान को शुरू कर दिया था। उनका मानना था कि देश के साथ-साथ मानवता की सेवा करने का इससे अच्छा समय और नहीं मिल सकता। इसके बाद उन्होंने पूरे जिले को सेनेटाइज़ करने का निर्णय लिया। सर्वप्रथम धर्मवीर सिंह व उनके सहयोगी सरफराज आदि ने मिलकर जन सामान्य की चार पहिया व दोपहिया वाहनों को सेनेटाइज़ करने का अभियान चलाया। यह वह दौर था जब जिले को लाक डाउन नहीं किया गया था।
केंद्र सरकार द्वारा लॉक डाउन की घोषणा किए जाने के बाद इस संस्था ने अपने कार्य को और तेज कर दिया। *’सेवा ही धर्म:’* संस्था ने सेनेटाइज़ कर दिया। स्वास्थ विभाग की गाड़ियों को सेनेटाइज़ करने के उपरांत इस टीम ने पुलिस विभाग की गाड़ियों को सेनेटाइज़ करने का निर्णय लिया तथा पुलिस अधीक्षक के साथ साथ सभी क्षेत्राधिकारियों व थानाध्यक्षों की गाड़ियों , मीडिया कर्मियों की गाड़ियों को भी सेनेटाइज किया गया। इस बीच उनके द्वारा सेनेटाइज़र का वितरण भी किया। यह वह समय आ गया था जब कोरोना वायरस से लड़ने व मानवता तथा देश की रक्षा के लिए सभी लोग जूझ गए थे। एंबुलेंस व सरकारी गाड़ियों को सेनेटाइज़ करने के उपरांत ‘सेवा ही धर्म:’ की टीम ने गांव व कस्बों को सेनेटाइज़ करने का काम शुरू किया। इसके तहत जनपद के विभिन्न गांवों को उनके द्वारा सेनेटाइज़ किया जा चुका है।
धर्मवीर सिंह बग्गा ने मानवता व देश की सेवा के लिए किसी भी प्रकार की आवश्यकता पड़ती है तो उसे भी पूरा करने की कोशिश करेंगे।
टीम द्वारा 510 गांव ,लगभग 500 एम्बुलेंस को एक एक करके तीन चार बार सैनिटाइज किया गया हैं जिले के सारे कस्बे जैसे अकबरपुर, टाण्डा ,कटेहरी ,आलापुर, जलालपुर आदि को फ्री सैनिटाइज किया गया है और एक लाख सीसी सैनिटाइजर फ्री बाटा गया हैं तथा 10 ट्रेनों एवं सभी यात्रियों को सैनिटाइज एवं फ्री मास्क बाटा गया हैं अब तक 30 हजार मास्क बाटा जा चुका हैं एवं आगे भी सेवा जारी रहेगी ।
जिले के सभी दुकानदार भाइयों को मास्क एवं सैनिटाइजर फ्री बाटा जाएगा।
समाजसेवी धर्मवीर सिंह बग्गा का अकेले अपने दम पर निस्वार्थ भाव से जनसेवा करना वाकई काबिले तारीफ है। चाहे कुछ भी हो धर्मवीर सिंह बग्गा की जनसेवा में सक्रियता से राजनीति में चाह रखने वाले लोगों की नींद उड़ी हुई है, तो किसी को अपनी राजनीतिक जमीन खिसकने का डर है। एक बात भी तटस्थ सत्य है कि राजनीति में कोई स्थायी नहीं होता है। धर्मवीर सिंह बग्गा यह भी कहते हैं कि राजनेताओं द्वारा की जा रही मदद भी ऊंट के मुंह में जीरा के समान है, जो बिचौलियों की वजह से सही लोगों तक नहीं पहुंच पा रही है। धर्मवीर सिंह बग्गा का देश के विभिन्न मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखना प्रशंसनीय है तो आज के राजनेताओं के मुंह पर करारा तमाचा है जो देश व समाज के हालात और हालत से अंजान बनते हैं। धर्मवीर सिंह बग्गा के निस्वार्थ भाव से जनसेवा करने को वाकई सौ सौ सलाम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button