Lakhimpur-khiri

गोला गोकरननाथ में लाक डाउन व सामाजिक दूरी अधिकारियों की दरियादिली के चलते फ्लाप?

 

सदर चौराहा पर गोला पुलिस ने लाक डाउन का पालन सख्ती से कराने का किया प्रयास?पर कुछ व्यापारियों ने प्रतिबंध के बावजूद रोज की तरह आज भी गोदाम खोलकर बेचा सामान?

होती लाल रस्तोगी

गोलागोकरननाथ-खीरी।नगर व ग्रामीण इलाकों में लाक डाउन में अधिकारियों के चहेतों व्यापारियों व कच्ची शराब बेचने वालों,फड़ बिछा कर जुआरियों,चाट पकौड़ी के ठेला वालों आदि ने लाक डाउन को खुलेआम तोड़ा व सामाजिक दूरी का भी नहीं किया पालन ऐसा लगता था कि सामान्य दिनों की तरह थी भीड़ भाड़ कोतवाल डी.पी. तिवारी ने अपना रुख किया सख्त पर जिम्मेदार अधिकारियों ने अपना रुख नरम कर दिखाई दरियादिली जिसके चलते लाक डाउन व सामाजिक दूरी का रहा मिला जुला असर।जानकारी के अनुसार लेखक ने लगभग बारह बजे से पांच बजे तक नगर व ग्रामीण इलाकों में जाकर देखा तो यह बात खुलकर सामने आई की तहसील गोला का प्रशासन पूरी तरह से फ्लाप था और कोतवाली गोला पुलिस सख्त नजर आ रही थी।सदर चौराहे पर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक डी.पी.तिवारी मय फोर्स के सख्ती के साथ वाहनों की चेकिंग व रोकने और टोकने में व्यस्त थे पर बाकी जगहों पर भीड़ भाड़ का माहौल था।उनमे लाक डाउन का कोई भय नहीं दिखाई पडता था।वहीं किराना की दुकानों पर सामाजिक दूरी की बात महज मजाक बनी हुई थी।गलियों में चाट पकोड़ी के ठेले थे तो तहसील गोला मार्ग पर अधिकारियों के चहेते पत्थर व टाइल्स के व्यापारी दीपक श्रीवास्तव का गोदाम खुला हुआ था उसमें छोटा हाथी टाइल्स आदि भर कर ले जा रहा था। इसी मार्ग पर वर्कशॉप खुला हुआ था और आगे चलकर देखा तो ग्राम कोंधवा जो कि ठीक तहसील के पीछे है उसमें नाबालिग बच्चे सब्जी का ठेला व कच्ची शराब के पियक्कड़ों की कतारें दिखाई पड रही थी।आगे चलकर कर देखा तो गुजराल ईटभठठा के एक कोने में जुआरियों का जमावाड़ा था और बाकायदा फड़ बिछी हुई थी।इसी ईट भट्ठे पर नाबालिग बच्चे भी ईट पथाई में सक्रिय थे।बांकेगंज- कोंधवा सडक मार्ग पर बेखौफ एक मोटर साइकिल पर चार चार युवा और नाबालिग बच्चे फर्राटा भर रहे थे।लेखक मेला मैदान मार्ग पर पहुंचा तो देखा भगवान विशवकर्मा मंदिर के सामने पुडिया-मसाला की दुकान पर भीड भाड नजर आई इसके आगे चलकर जब भूतनाथ मार्ग व फिर लखीमपुर मार्ग,होते हुए मिल -मोहम्मदी मार्ग पर पुरानी मिल कालोनी के गेट के सामने अपने घर से पुडिया पान मसाला बेचा जा रहा था।इसके बाद खुटार रोड पर आगे चलकर सरदार हरनाम सिंह की गली मे होते हुए पत्रकार श्रेष्ठ रसतोगी के मकान के सामने से होते हुए कालाबाजारी में मिटटी का तेल का होने वाला व्यापार खुले आम जारी था इसके आगे गढी मोहल्ला होते हुए जाने वाले मार्ग पर चाट और पकोड़ी के ठेले तथा मोटरसाइकिलों का भारी मात्रा में आवागमन सांयकाल तक जारी रहा।ई-रिक्शा पर सवारियों को ढोया जा रहा था पर अन्य दिनों की तुलना में कम थे जिसका कारण मोहम्मदी रोड पर कोतवाल मय पुलिस के लाकडाउन को तोडने वालों की धुलाई कर रहे थे,इसके बाद जब वापस लौटा तब देखा कि जय मंगला स्वीट्स पर दुकान का कुछ भाग खुला था ।यह हाल है गोला नगर व ग्रामीण इलाकों का यहां पर जितना कोतवाली गोला के प्रभारीनिरीक्षक ने तेजी दिखाई वहीं अधिकारियों ने उदासीनता का परिचय दिया जिसके चलते लाकडाउन व सामाजिक दूरी का मिला जुला असर दिखाई पडा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button