Sultanpur

जनपद में संरक्षित निराश्रित/बेसहारा गोवंशों को खाने हेतु भूसा/हरा चारा, राशन अथवा अन्य सामग्री दिये जाने के लिये मा0 जन प्रतिनिधियों, सरकारी संगठनों, प्रतिष्ठित व्यक्तियों आदि से जिलाधिकारी ने अपील

 

सुल्तानपुर: जैसा कि विदित है कि वर्तमान समय में पूरा विश्व कोरोना वायरस(कोविड-19) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये 03 मई, 2020 तक सरकार द्वारा लाॅक डाउन घोषित किया गया है। जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती द्वारा जन सामान्य को अवगत कराया है कि उ0प्र0 गो संरक्षण एवं सम्वर्धन योजना के अन्तर्गत जनपद में 27 अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल एवं एक वृहद गो संरक्षण केन्द्र संचालित हंै, जिसमें लगभग 2500 निराश्रित/ बेसहारा गोवंश संरक्षित किये गये हैं। जनपद में संरक्षित निराश्रित/बेसहारा गोवंश के खाने के लिये भूसा/हरा, चारा/चूनी-चोकर आदि की व्यवस्था कराये जाने हेतु सभी का सहयोग अपेक्षित है।
उ0प्र सरकार/जिला प्रशासन मूकबधिर गोवंश के प्रति काफी संवेदनशील है और उनका सुचारू रूप से भरण-पोषण कराया जा रहा है, परन्तु मूकबधिर गोवंश के भरण-पोषण के कार्य में जन सामान्य की सहभागिता नितान्त आवश्यक है। वर्तमान समय में कृषक द्वारा रवी फसल की कटाई/मड़ाई का कार्य किया जा रहा है। शासन स्तर से संरक्षित निराश्रित/बेसहारा गोवंशों को साल भर खाने हेतु भूसा का स्टोर कराया जाना है, जिसमें जन सामान्य की सहभागिता अपेक्षित है।
जिलाधिकारी ने जनपद में संरक्षित निराश्रित/बेसहारा गोवंश के खाने के लिये भूसा/हरा, चारा/चूनी-चोकर उपलब्ध कराये जाने हेतु जनपद के मा0 जन प्रतिनिधियों, सरकारी संगठनों, प्रतिष्ठित व्यक्तियों, औद्योगिक प्रतिष्ठान, गैर सरकारी संगठन एवं धमार्थ संस्थान, कृषकों/पशुपालकों, अन्य सम्मानित जनपद वासियों से अपील/अनुरोध करती हँू कि अधिक से अधिक मात्रा में भूसा/ हरा चारा, राशन अथवा अन्य सामग्री नजदीकी स्थायी/अस्थायी गोवंश आश्रय स्थलों पर दान देने का कष्ट करें/ साथ ही साथ दान में दी गयी। वस्तु की रसीद भी प्राप्त कर लें, जिससे की आपके द्वारा दिये गये दान का अभिलेखीकरण कराया जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button