Jaunpur

जौनपुर : जमीन पर कब्जे के विवाद को लेकर हुआ खूनी संघर्ष, लाठी-डंडे व धारदार हथियार से जमकर हुई मारपीट

मुंगराबादशाहपुर/जौनपुर(सूरज विश्वकर्मा)। स्थानीय थाना क्षेत्र के समसपुर गांव में जमीन पर कब्जे को लेकर हुए विवाद में दो पक्ष आमने-सामने हो गए। जिसमें दोनों पक्षों से कुल सात लोग घायल हो गए। जिनमें तीन की हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें बेहतर इलाज के लिए स्वरूपरानी अस्पताल प्रयागराज रेफर किया गया है । बताते हैं कि स्थानीय थाना क्षेत्र के ग्राम समसपुर निवासी लल्लन बिन्द पुत्र स्व.रामसुख बिन्द के भाई इन्द्रबहादुर बिन्द से गांव के ही वीरसेन यादव ने एक जमीन खरीद लिया था। जिस पर लल्लन बिन्द पहले से ही कब्जा रहे वीरसेन यादव का कहना है कि इन्द्र बहादुर ने हमें वही जमीन बेचा था जिस पर लल्लन पहले से कब्जा है विगत कई वर्षों से इसी जमीन में बने दो कमरे को लेकर के कब्जे को लेकर विवाद बना हुआ था। शुक्रवार को भी मौके पर विवाद हुआ था सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझाकर यथा स्थिति बनाने की हिदायत दे कर मामले को शान्त करा दिया था। लेकिन शनिवार को दिन में लगभग साढे तीन बजे वीरसेन यादव व उसके पुत्र आशीष अंशुमान तथा मनीष यादव पुत्र नरेन्द्र यादव अपने साथ कई लोगो को लेकर लाठी डंडा व धारदार हथियार से लैस होकर सीधे लल्लन के उक्त मकान पर कब्जा करने की नियत से धावा बोल दिया। जिससे दोनों पक्षों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ। इस संघर्ष में आशीष यादव पुत्र वीरसेन यादव उम्र 20 वर्ष , अंशुमान यादव पुत्र वीरसेन यादव उम्र लगभग 22 वर्ष तथा मनीष यादव पुत्र नरेन्द्र यादव 17 वर्ष और दूसरे पक्ष से सूरज बिन्द पुत्र लल्लन बिन्द उम्र 21 वर्ष , लल्लन बिन्द पुत्र स्व0 राम सुख उम्र 52 वर्ष तथा बगल ही दुकान पर पहले से मौजूद चाय पीने आए समसपुर निवासी दो सगे भाई सन्तोष उर्फ राममिलन पुत्र कन्हैया बिन्द 35 वर्ष और गणेश पुत्र कन्हैया बिन्द उम्र लगभग 27 वर्ष घायल हो गए। घटना की सूचना मिलते ही प्रभारी निरीक्षक सत्य प्रकाश सिंह व हल्का प्रभारी उप निरीक्षक मनोज सिंह लगभग दो दर्जन की संख्या में पुलिस कर्मियों के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे और सभी घायलों को 108 एम्बुलेन्स की सहायता से प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मुंगराबादशाहपुर भिजवाया। जहां मनीष यादव, अंशुमान यादव, लल्लन बिन्द, सन्तोष बिन्द व गणेश बिन्द को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी। जबकि आशीष यादव व मनीष यादव तथा सूरज बिन्द की हालत नाजुक देख चिकित्सकों ने बेहतर उपचार के लिए स्वरूपरानी चिकित्सालय प्रयागराज रेफर कर दिया है जिसे 108 एम्बुलेन्स से लिवाकर प्रयागराज के लिए निकले है। घटना के बाद पूरे गांव में तनाव बना हुआ है और मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button