Jaunpur

जौनपुर : शिकायत के बावजूद थाना प्रभारी नहीं कर रहें कोई कार्यवाही

संवाददाता : सूरज विश्वकर्मा

मुंगराबादशाहपुर/जौनपुर। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए जहां केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार कड़े कदम उठा रहा है। जिसका पालन कराने के लिए प्रदेश सरकार जिले के आलाधिकारियों को सख्त हिदायत दी है वहीं जनपद जौनपुर में शुक्रवार को जांच में अट्ठाइस कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई जिससे इसकी संख्या बढ़कर छिहत्तर हो गया है अट्ठाइस कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही जिले में हड़कंप मच गया है। जिले में लगातार कवरंटीन हुए लोगों के बाहर घूमने और बाजारों में जाने की मिल रहे शिकायत को संज्ञान में लेते हुए बृहस्पतिवार को ही जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने कहा कि ऐसा संज्ञान में आया है कि कुछ लोग बाहर राज्य से अभी हाल ही में आए हैं और 21 दिन का क्वॉरेंटाइन पूरा नहीं किया है, लेकिन वह बिना क्वॉरेंटाइन पूरा किए ठेले शहर में लगा रहे हैं। सभी से अपील है कि ऐसे लोगो से सतर्क रहें तथा अगर किसी के संज्ञान में ऐसा प्रकरण आता है तो उसकी तत्काल सूचना संबंधित थानाध्यक्ष को दें साथ ही साथ समस्त थानाध्यक्षों को निर्देशित किया जाता है कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में दिखवा लें कि यदि कोई ऐसा व्यक्ति हो तो उनको तत्काल क्वॉरेंटाइन में भेजा जाए। तथा उनके खिलाफ क्वॉरेंटाइन में न रहने एवं संक्रमण फैलाने के आरोप में एफ.आई.आर. दर्ज की जाए। बावजूद इसके मुंगरा थाना प्रभारी मौन धारण किए हुए हैं जबकि गांव से लगातार शिकायत हो रहा है कि जो लोग बाहर से आए हैं वो ना तो होम कवरंटीन हो रहें हैं ना ही प्राथमिक विद्यालय में जाकर कवरंटीन हो रहें हैं खुलेआम संक्रमण बनकर गांव भर में फैला रहें हैं और स्थानीय बाजारों में भी घूम रहे हैं जिससे क्षेत्र में संक्रमण का खतरा बना रहता है पता नहीं कौन संक्रमित व्यक्ति है इसकी कोई पहचान नहीं है। फिर भी मुंगरा थाना प्रभारी द्वारा कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया जिससे जनता में रोष व्याप्त है हमारे संवाददाता ने मिल रहे शिकायत को संज्ञान में लेते हुए कई गांव जाकर इसके बारे में जानकारी लेने के लिए गए जहां पर गांव वालों की शिकायत सही पाया सभी गांव की एक ही शिकायत। ग्राम प्रधान से भी शिकायत किया गया था पर उन्होंने ने भी मौन धारण कर लिया, आखिर कब क्षेत्र का प्रशासन अपनी जिम्मेदारी समझेगा? जो लोग बाहर बिना होम क्वरंटीन और क्वरंटीन होकर खुलेआम संक्रमण बनकर घूम रहें हैं उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही कब होगा?? स्थानीय प्रशासन भी जिलाधिकारी के आदेश का उल्लंघन कर रहा है जो प्रश्नचिन्ह खड़े करतें की क्या जिलाधिकारी के आदेश का पालन करना इनका दायित्व नही है या जानकर भी अंजान बन रहा स्थानीय प्रशासन या डीएम का आदेश इनके लिए मायने नहीं रखता। क्या आदेश का पालन करा पाने में असमर्थ हैं?फिलहाल प्रशासन मस्त जनता त्रस्त है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button