Gorakhpurब्रेकिंग न्यूज़शिक्षा

बदहाली का शिकार है समाज कल्याण विभाग का यह प्राथमिक विद्यालय,

बदहाली का शिकार है समाज कल्याण विभाग का यह प्राथमिक विद्यालय।

Location– Gorakhpur,

गोरखपुर जिले के खोराबार ब्लॉक के समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित प्राथमिक विद्यालय पूरी तरह से प्रशासनिक उपेक्षा का शिकार है दीवारों पर लगे प्लास्टर गिरने लगे हैं फर्स्ट टूटे हुए हैं ।विद्यालय के कुछ दूरी पर बच्चे जुआ का अड्डा बना रखे हैं ।

ग्राम प्रधान इंदर निषाद ने बताया कि उन्होंने कई बार इसकी लिखित शिकायत की परंतु कोई कार्यवाही नहीं होती है। उन्होंने बताया कि इस विद्यालय में एक अध्यापक पढ़ाने को आते हैं बहुत मुश्किल से उनका नाम भी बस उन्होंने बताया कोई राय साहब है इससे ज्यादा हम को नहीं मालूम है। उन्होंने बताया कि विद्यालय मैं जो नियुक्त अध्यापक है वह अपना नाम नहीं बताते हैं। केवल अपना टाइटल बताते हैं।
जब भी उनके विरूद्ध कोई आवाज उठाता है लोकल मीडिया के पत्रकार और विभाग के अधिकारी उल्टा उन्हीं का पक्ष लेकर दबाव बनाने लगते हैं।
वह बताएं कि लोकल मीडिया का और समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों का राय साहब के ऊपर जो यहां के अध्यापक ने अत्याधिक कृपा बरसती है। यदि अधिकारी से कभी भी बुलाओ मौके पर जांच करने के लिए वह मौके पर नहीं आपने हैं और शिकायत पर संबंधित अध्यापक को पूरा मामला बताने के साथ मामला को छिपाने का पूरा प्रयास करते हैं।
उन्होंने कहा कि इस विद्यालय की बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है उनकी इच्छा है ।इसे किसी कार्य योजना में डालकर नए भवन का निर्माण कराने की ताकि यहां पर शिक्षा का माहौल अच्छे से बन सके ग्राम प्रधान ने एक और आरोप लगाया बिल्डिंग पूर्ण रूप से जर्जर हो चुकी है और विद्यालय के आसपास पढ़ाई का माहौल नहीं है।
वही विद्यालय के अध्यापक उमेशचंद्र राय से इस मुद्दे पर बात किया गया तो उन्होंने ने कहा कि उनके पास संसाधन कम है।जिसके चलते विद्यालय का विकास कम हो पाता हैं। जो भी आरोप मुझ पर लगाया जा रहा है,वह पूर्ण रूप से निराधार हैं। उन्होंने कहा कि विद्यालय की दीवारों को जो शब्द लिखे हैं उनको मैं तत्काल मिटवा दूंगा।

Bite–ग्राम प्रधान इंदर निषाद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button